INDORE NEWS- लड़कियों की लाइफ बर्बाद करने LOVE नहीं, यह नया तरीका, पहला आरोपी पकड़ा गया

इंदौर
। मध्य प्रदेश के सबसे बड़े शहर इंदौर में क्रिमिनल हर रोज कोई नया तरीका ढूंढ रहे हैं। यहां प्रदेशभर से लड़के लड़कियां पढ़ने के लिए आते हैं। बजरंग दल के लोगों ने एक युवक को पकड़कर पुलिस के हवाले किया। इस प्रकरण में लड़कियों को ब्लैकमेल करने का एक नया तरीका सामने आया है। 

INDORE NEWS- पढ़ने वाली लड़कियों की मदद करने के बहाने जाल में फंसाते हैं

पकड़ा गया लड़का और उसके ग्रुप के लोग कॉलेज में पढ़ने वाली ऐसी लड़कियों को टारगेट करते हैं जिन्हें या तो हाई प्रोफाइल लाइफस्टाइल पसंद है या फिर अपना खर्चा खुद कमाने के लिए किसी जॉब की तलाश कर रही हैं। यानी ऐसी लड़कियां जो निर्धन परिवार से आती हैं और स्वाभाविक रूप से उनके पीछे कोई पावर बैकअप नहीं होता। शुरुआत में इन लड़कियों को जॉब या इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स, जो चाहिए वह दिया जाता है और फिर अपनी तरफ आकर्षित कर लिया जाता है। मुलाकातों का सिलसिला शुरू होता है और फास्ट फूड या किसी ड्रिंक में हल्की नशीली दवाई मिलाकर दी जाती हैं। आपराधिक गिरोह के लोग इसे इन्वेस्टमेंट कहते हैं। जब लड़की को नशीली दवा की लत लग जाती है तब रिकवरी शुरू होती है। 

नशे की हालत में वीडियो बनाते हैं होश में आने पर दिखाते हैं

लड़की को दवाई देना बंद कर दी जाती है। लड़की तड़पने लगती है और बार-बार उसी डिश या ड्रिंक की मांग करती है। ऐसी स्थिति में मनुष्य की सोचने समझने की क्षमता और संकल्प शक्ति कम हो जाती है। तब उसे पाउडर ऑफर किया जाता है। ट्रायल टेस्ट के बाद पाउडर की मात्रा बढ़ा दी जाती है। अब लड़की पूरी तरीके से उनके चंगुल में होती है। नशे की हालत में लड़की के फोटो वीडियो बनाए जाते हैं। होश में आने पर उसे दिखाए जाते हैं कि वह नशे की हालत में क्या क्या कर रही थी। 

हर लड़की के लिए कोई ना कोई काम होता है

अब लड़की आत्मग्लानि का शिकार हो जाती है। पाउडर की लत लगी चुकी थी। लड़की का उपयोग कमाई करने के लिए किया जाता है। किसी लड़की को ठगी करने भेज दिया जाता है। किसी लड़की को हनीट्रैप के काम पर लगाया जाता है। किसी लड़की को करोड़पति लोगों के फार्म हाउस पर भेज दिया जाता है। हर प्रकार की लड़की के लिए कोई ना कोई काम होता है। एक और चौंकाने वाली बात यह है कि इस क्रिमिनल रैकेट में अब तक जितने भी नाम पता चले हैं सभी एक संप्रदाय विशेष के हैं और बजरंग दल के अनुसार पीड़ित लड़कियां दूसरे संप्रदाय विशेष की हैं।

✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें एवं यहां क्लिक करके हमारा टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल पर कुछ स्पेशल भी होता है।