INC layoffs pattern- जानिए कंपनियों से किस तरह के कर्मचारियों को निकाला जा रहा है

ट्विटर से शुरू हुई कर्मचारियों की छंटनी लगातार जारी है। दुनिया की सबसे अधिक गज टेक कंपनी माइक्रोसॉफ्ट की तरफ से भी खबर आई है कि साल 2023 में 10,000 कर्मचारियों को नौकरी निकाल दिया जाएगा। कुछ कंपनियों ने तो 14 साल पुराने कर्मचारी को निकाल दिया पूरी दुनिया के कारपोरेट सेक्टर के एंप्लाइज काफी घबराए हुए हैं। वह जानना चाहते हैं कि उनकी नौकरी सुरक्षित है या फिर वह खतरे में है। 

क्रिस विलियम्स ने बताया- किसकी जॉब सेफ है और कौन डेंजर में है

निश्चित रूप से यह न्यूज़ किसी भी प्राइवेट कंपनी के एम्पलाई को डरा देती है जब उसे पता चलता है कि दुनिया की सबसे दिग्गज कंपनी ने 14 साल पुराने कर्मचारी को निकाल दिया। रात में उसने अपना पूरा काम किया था। वो खुद को सुरक्षित महसूस करता था क्योंकि पुराना था और अनुभवी है। सुबह 8:00 बजे जब वो उठा तो उसके इनबॉक्स में उसके टर्मिनेशन की इंफॉर्मेशन थी। इस तरह की खबरों के बीच माइक्रोसॉफ्ट के एक्स वाइस प्रेसिडेंट ह्यूमन रिसोर्स डिपार्टमेंट, क्रिस विलियम्स ने बताया कि किस तरह के कर्मचारी सुरक्षित हैं और किस तरह के कर्मचारियों की नौकरी खतरे में है। 

किसी भी कंपनी में 3 प्रकार के कर्मचारियों की नौकरी खतरे में होती है

बिजनेस इंसाइडर ने इस बारे में क्रिस विलियम्स से क्वेश्चन किया था। विलियम्स ने बताया कि हर इंडस्ट्री, कंपनी यहां तक कि डिपार्टमेंट की अपनी रिस्क होती है लेकिन कुछ ऐसे होते हैं जो हाई रिस्क जोन में होते हैं। सबसे ज्यादा हाई रिस्क जोन में कॉन्ट्रैक्ट वर्कर होते हैं क्योंकि उन्हें नौकरी से निकालने के लिए ही भर्ती किया जाता है। दूसरे नंबर पर न्यू इनीशिएटिव के कर्मचारी होते हैं। कंपनी अपने कर्मचारियों को निकालने से पहले नई कंपनी के कर्मचारियों को बाहर करना पसंद करती है। तीसरे नंबर पर इवेंट डिपार्टमेंट से जुड़े कर्मचारियों की नौकरी खतरे में होती है क्योंकि वह कंपनी की जरूरत नहीं मनोरंजन होते हैं। 

इन कर्मचारियों की नौकरी सबसे सुरक्षित 

यदि आप किसी ऐसे डिपार्टमेंट में है जहां से कंपनी को डायरेक्ट प्रॉफिट मिलता है तो आप के सुरक्षित होने की संभावना सबसे ज्यादा है। खासकर किसी ऐसे प्रोडक्ट की प्रोडक्शन टीम जो सबसे ज्यादा बिकता है। दूसरे नंबर पर ह्यूमन रिसोर्स डिपार्टमेंट का स्टाफ आता है। स्वभाव चाहिए लोग खुद को टर्मिनेशन लेटर नहीं भेजते। प्रेशर आता है तो अपनी जगह किसी दूसरे कर्मचारी की बलि चढ़ा देते हैं। तीसरे नंबर पर आते हैं फाइनेंस डिपार्टमेंट के लोग। वैसे भी फाइनेंस डिपार्टमेंट में कभी जरूरत से ज्यादा भर्ती नहीं होती।

✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें एवं यहां क्लिक करके हमारा टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल पर कुछ स्पेशल भी होता है।