मध्यप्रदेश में बिजनेस वूमंस की संख्या 43% बढ़ी, 2597 में से 1143 स्टार्टअप लड़कियों के - MP NEWS

भोपाल
। मध्यप्रदेश के लिए यह एक बड़ी उपलब्धि है। बिजनेस वूमंस की संख्या में रिकॉर्ड वृद्धि दर्ज की गई है। पिछले 8 महीने में इनकी संख्या 43% बढ़ गई है। इसी के साथ मध्यप्रदेश में न्यू बिजनेस स्टार्ट करने वाले लड़के और लड़कियों की संख्या लगभग बराबर हो गई है। 

मध्य प्रदेश न्यू बिजनेस- लड़कियों की संख्या लड़कों से ज्यादा हो जाएगी

मध्य प्रदेश सरकार के रिकॉर्ड में फिलहाल 2597 स्टार्टअप रजिस्टर्ड है। इनमें से 1143 स्टार्टअप लड़कियों ने शुरू किए हैं और 1454 स्टार्टअप लड़कों ने शुरू किए हैं। इस हिसाब से स्टार्टअप में लड़कियों की मौजूदगी 44% से अधिक हो गई है। रिकॉर्ड में दर्ज करने वाली बात यह है कि लड़कियों के स्टार्टअप की संख्या पिछले 8 महीने में 43% बढ़ी है। आज की तारीख में लड़के और लड़कियों के स्टार्टअप में सिर्फ 6% का अंतर है लेकिन जिस तरह से लड़कियों के स्टार्टअप की संख्या बढ़ रही है अगले 4 महीनों में लड़कियां, बिजनेस की फील्ड में लड़कों से आगे निकल जाएंगे। 

मध्य प्रदेश सरकार की पॉलिसी ने आंकड़े बदल दिए

सरकार द्वारा महिलाओं को पुरुषों के मुकाबले 20% अतिरिक्त आर्थिक मदद देना। सरकार पुरुषों को स्टार्टअप्स के लिए अभी अधिकतम 15 लाख रु. देती है जबकि महिलाओं को 18 लाख रु. मिलते हैं। ये सभी स्टार्टअप डिपार्टमेंट फॉर प्रमोशन ऑफ इंडस्ट्री एंड इंटरनल ट्रेड (डीपीआईआईटी) से मान्यता प्राप्त हैं।

5 सेक्टर जहां स्टार्टअप सबसे ज्यादा

1. रिन्यूबल एनर्जी : दिसंबर 2022 तक मप्र में 42% स्टार्टअप बढ़े
2. ग्रीन टेक : 38% स्टार्टअप खुले हैं, जो कि दूसरे नंबर पर है। 
3. हेल्थ : इस सेक्टर में प्रदेश में इस साल 36% स्टार्टअप खुले। 
4. फूड एंड बेवरेज : दिसंबर तक 35% स्टार्टअप की बढ़ोतरी हुई है।
5. ऑटोमोबाइल-कृषि : दोनों में अब तक 28-28% स्टार्टअप बढ़े हैं।

इनक्यूबेशन सेंटर से लड़कियां काफी कुछ सीख रही हैं

सरकार ने स्टार्टअप बढ़ाने के लिए 49 इन्क्यूबेशन सेंटन खोले हैं। इंदौर, भोपाल, जबलपुर, ग्वालियर, सतना, सागर में ये इनक्यूबेशन सेंटर हैं, जहां महिलाओं को बाजार से जोड़ने के गुर सिखाते हैं।

3 सेक्टर जिसमें सबसे ज्यादा महिला स्टार्टअप

सरकारी रिकॉर्ड के मुताबिक सबसे ज्यादा आईटी सेक्टर में महिला स्टार्टअप भाग्य आजमा रही हैं। फूड एंड बेवरेज में भी महिला स्टार्टअप आगे आने लगी हैं। तीसरा सेक्टर कृषि का है। इसके अलावा रिन्यूबल एनर्जी में भी महिलाओं के नेतृत्व में नए-नए इनोवेशन हो रहे हैं। 

पी नरहरि, सचिव, एमएसएमई ने आंकड़ों की पुष्टि करते हुए बताया कि, मप्र में महिलाओें के खुद आगे बढ़ने से रिकॉर्डतोड़ स्टार्टअप बढ़े हैं। राज्य सरकार ने 578 करोड़ का निवेश किया है।  

✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें एवं यहां क्लिक करके हमारा टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल पर कुछ स्पेशल भी होता है।