मध्य प्रदेश मौसम- तूफान का असर कब से और कितना, मावठ की बारिश कहां-कहां, यहां पढ़िए

भोपाल
। मध्यप्रदेश में कड़ाके की ठंड शुरू हो चुकी है। कई इलाकों का तापमान 10 डिग्री के नीचे पहुंच चुका है। अचानक तापमान परिवर्तन के कारण हजारों लोग कोल्ड एंड कफ का शिकार हो गए हैं। भारत मौसम विज्ञान विभाग ने 10 से ज्यादा जिलों में मावठ की बारिश का पूर्वानुमान जताया है। इधर समुद्र में तूफान आ रहा है। उसका असर भी मध्यप्रदेश पर दिखाई देगा। 

मध्य प्रदेश मौसम का पूर्वानुमान- आसमान में बादल कब तक रहेंगे

मध्यप्रदेश के आसमान पर बादल छा चुके हैं। इसके कारण सूर्य की किरणें अपना पूरा असर नहीं दिखा पा रही है। हवाओं में नमी महसूस की जा रही है। जो लोगों को बीमार करने का एक प्रमुख कारण है। बंगाल की खाड़ी में मंदौस नाम का समुद्री चक्रवात एक्टिव है। इसके कारण कम से कम 1 सप्ताह तक मध्यप्रदेश के आसमान पर बादल छाए रहेंगे। इसके कारण रविवार से मौसम में बड़ा बदलाव नजर आ सकता है। समुद्र में तूफान से हुए बादलों के कारण 12 से 16 दिसंबर के बीच मध्य प्रदेश के कुछ इलाकों में हल्की बारिश हो सकती है। चक्रवात मंदौस 10 की रात तक चेन्नई तक पहुंच जाएगा। अगले दो दिन में यह भारत से होते हुए अरब सागर में प्रवेश करेगा। 12 दिसंबर से इसका असर मध्यप्रदेश में दिखाई देने लगेगा। इससे बारिश की संभावना बढ़ जाएगी। 

मध्य प्रदेश के किन जिलों में मावठ की बारिश का पूर्वानुमान

12 दिसंबर की रात से बड़वानी, बैतूल, इटारसी, भोपाल, इंदौर, सागर, रीवा, छिंदवाड़ा और शहडोल में हल्के बादल रह सकते हैं। बूंदाबांदी के आसार भी हैं। 13 दिसंबर की रात रीवा, सागर, भोपाल, बड़वानी, छिंदवाड़ा, इटारसी, दमोह और उमरिया में हल्की बारिश हो सकती है। इसी दिन शाम तक बड़वानी, इंदौर, भोपाल, सागर, रीवा, सिंगरौली, बैतूल और खंडवा में बादल छाने से बूंदाबांदी होने की संभावना है। 14 दिसंबर को बादल छटने से तापमान में गिरावट दर्ज की जा सकती है। 15 दिसंबर तक मध्यप्रदेश में हल्के से मध्यम बादल छाए रह सकते हैं।