कोरोना BF-7 NEWS- मध्यप्रदेश में आज तक एक भी केस नहीं, पढ़िए फैलने से रोकने के लिए क्या करेंगे

भोपाल
। केंद्र सरकार की ओर से अलर्ट जारी होने के बाद कोरोनावायरस के नए वेरिएंट बीएफ 7 को लेकर समाचारों का सिलसिला शुरू हो गया है। मध्यप्रदेश में तय किया गया है कि यदि कोई संदिग्ध व्यक्ति मिला तो उसका जीनोम टेस्ट कराया जाएगा और जब तक रिपोर्ट नहीं आ जाती तब तक उसे आइसोलेशन में रखा जाएगा। 

कोरोना BF-7 NEWS- बुधवार तक मध्य प्रदेश सौ प्रतिशत नेगेटिव

जहां तक कोरोनावायरस के नए वेरिएंट बीएफ सेवन की बात है। बुधवार दिनांक 21 दिसंबर 2022 तक मध्य प्रदेश सौ प्रतिशत नेगेटिव था। बुधवार को 71 सैंपल की रिपोर्ट आई थी और सभी नेगेटिव थे। मध्यप्रदेश की शिवराज सिंह चौहान सरकार और स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारी आज स्थिति की समीक्षा करेंगे और उसके बाद मध्यप्रदेश की रणनीति बनाई जाएगी। मध्य प्रदेश सरकार के प्रवक्ता डॉ नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि, पिछले 24 घंटे में प्रदेश में कोरोना का कोई नया केस नहीं आया है। प्रदेश में कोरोना संक्रमण दर शून्य है। वर्तमान में प्रदेश में कुल एक्टिव केस 05 और रिकवरी रेट 98.70% है।

कोरोना वायरस के नए वेरिएंट BF-7 से कैसे बचें

पल्मोनोलॉजिस्ट डॉ. लोकेंद्र दवे ने बताया कि कोविड के नए वैरिएंट के संक्रमण से बचने के लिए बुजुर्ग और बच्चे (12 साल से कम उम्र के) सतर्क रहना पड़ेगा। दोनों श्रेणी के लोग कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करें। उन्होंने बताया कि बच्चों को अब तक कोरोना की कोई भी वैक्सीन नहीं लगी है। न ही इस उम्र में समूह के बच्चों का कोविड एक्सपोजर हुआ है। वहीं बुजुर्गों को कोविड वैक्सीन का बूस्टर डोज भी लग चुका है, लेकिन उनकी इम्यूनिटी युवाओं की तुलना में कमजोर है। इस कारण बच्चे और बुजुर्ग कोविड गाइडलाइन का पालन करें।