Small Business Ideas- जीरो इन्वेस्टमेंट, होम बेस्ड, ₹50 हजार मंथली प्रॉफिट वाला स्टार्टअप

हम हमेशा मार्केट रिसर्च, पब्लिक की प्रॉब्लम और उनके सलूशन, बिजनेस अपॉर्चुनिटी और दुनिया भर में चल रही इनोवेटिव एक्टिविटीज पर नजर रखते हैं ताकि आपको हर रोज कोई ऐसा स्मॉल बिजनेस आइडिया दे सकें जो आपके लिए लाइफ चेंजिंग हो सके। 

आज भी अपन एक ऐसे ही बिजनेस मॉडल पर बात करेंगे। यह जीरो इन्वेस्टमेंट बिजनेस है। होम बेस्ट बिजनेस है, घर से शुरू कर सकते हैं और 5 लाख की आबादी वाले शहर में ₹50000 मंथली प्रॉफिट आसानी से बनाया जा सकता है। आपको सिर्फ टीम बनानी है और पब्लिक में क्रिएट हो रही डिमांड को अपने लिए आर्डर में कन्वर्ट करना है। 

दुनिया तेजी से बदल रही है और भारत उतनी ही तेजी से तरक्की कर रहा है। तरक्की की इस दौड़ में कई बच्चे अपने माता-पिता से दूर हो गए हैं। कई बार ऐसा होता है कि बच्चों को वृद्ध माता-पिता को घर में अकेला छोड़ कर जाना पड़ता है। जब ज्वाइंट फैमिली का कल्चर था तब कोई प्रॉब्लम नहीं थी। कुछ सालों पहले तक रिश्तेदार और पास पड़ोसी भी मदद किया करते थे परंतु अब जमाना बदल गया है। 

लाइफस्टाइल का यही बदलाव अपने लिए बिजनेस अपॉर्चुनिटी है। आप अपने शहर में केयरटेकर सर्विस ऑन डिमांड शुरू कर सकते हैं। 
  • ऐसे वृद्ध व्यक्तियों के लिए जो अकेले रहते हैं। 
  • ऐसे युवाओं के लिए जिनके माता-पिता अकेले रहते हैं। 
  • ऐसे परिवारों के लिए जो कुछ समय के लिए वृद्ध व्यक्तियों को घर पर छोड़कर जाना चाहते हैं। 
  • ऐसे व्यक्ति जो अकेले रहते हैं और अचानक बीमार हो गए हैं।

आपको सिर्फ इतना करना है कि नर्सिंग कोर्स पास कुछ ऐसे युवाओं को अपनी टीम में शामिल करना है, जो अपने लिए कोई जॉब सर्च कर रहे हो, यानी फिलहाल उन्हें काम की जरूरत है। इंटरनेट के माध्यम से अभियान चलाकर आप अपनी सेवाओं के बारे में लोगों को बताएंगे। किसी को 1 दिन के लिए किसी को 7 दिन के लिए केयरटेकर की जरूरत होती है। 

अपनी टीम के साथ रेवेन्यू शेयर डील कर सकते हैं। जितना पैसा क्लाइंट से मिलेगा उसमें एक निर्धारित शेयर आपका होगा। लोगों को आप कलेक्टर रेट यानी सरकार द्वारा निर्धारित न्यूनतम दैनिक मजदूरी दर पर प्रशिक्षित केयरटेकर उपलब्ध कराएं। यकीन मानिए, काफी मुनाफा होगा। 1 दिन में यदि 10 केयरटेकर इंगेज हुए और आपने अपना शेयर 40% रखा तब भी भारत सरकार द्वारा निर्धारित न्यूनतम दैनिक मजदूरी की दर के आधार पर सेवाएं उपलब्ध कराने पर आपको महीने का ₹50000 आसानी से बच जाएगा।