MP NVDA में रिटायर सब इंजीनियरों को SDO बनाया जा रहा है, कर्मचारी संगठन नाराज

जबलपुर
। मध्य प्रदेश शासन के अंतर्गत नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण में रिटायर हो चुके सब इंजीनियरों को एसडीओ के पद पर संविदा नियुक्ति दी जा रही है। कर्मचारी संगठनों का कहना है कि यह न केवल अनुचित है बल्कि प्राधिकरण के लक्ष्य के लिए हानिकारक भी है। जबकि प्राधिकरण में पर्याप्त संख्या में उपयंत्री मौजूद है। शासन के महत्वपूर्ण पद नियमित कर्मचारियों को ही दिए जाने चाहिए। SDO जैसे पदों पर 62 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों की संविदा नियुक्ति किसी भी दृष्टि से सही नहीं कही जा सकती। 

मध्य प्रदेश अधिकारी कर्मचारी संयुक्त मोर्चा जबलपुर जिला संरक्षक योगेंद्र दुबे, जिला अध्यक्ष अटल उपाध्याय ने बताया है कि नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण ने सेवा निवृत्त उपयंत्री रविन्द्र नाथ गर्ग को संविदा नियुक्ति देते हुए कार्यालय कार्यपालन यंत्री दांयी तट नहर संभाग क्रमांक 1 कटनी में उपयंत्री के रिक्त पद पर संविदा नियुक्ति प्रदान की गई है। साथ ही अनुविभागीय अधिकारी (मैदानी) का प्रभार भी दिया गया है। नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण के आदेश क्रमांक 21 / ग्यारह / 341 / 2022 / 3311. दिनांक 13.10.2022 के द्वारा उक्त नियुक्ति दी गई है।

मध्य प्रदेश के अधिकारी कर्मचारी संयुक्त मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष जीतेंद्र सिंह व म प्र डिप्लोमा इंजीनियर्स ऐसो. के प्रांताध्यक्ष सूरज सिंह कुशवाह ने बताया है कि नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण 59, नर्मदा भवन अरेरा हिल्स जेल रोड भोपाल के आदेश, क्रमांक 21 / ग्यारह / 364 / 2022 / 3364 भोपाल, दिनांक 18/10/2022 जारी कर 30_40 सालों से नियमित सेवा में कार्य कर रहे उपयंत्रीयों को अनुविभागीय अधिकारी का प्रभारी नहीं बनाया जा रहा है, वहीं दूसरी ओर रिटायर हो चुके उपयंत्री को महत्वपूर्ण पदों पर संविदा नियुक्ति की जा रही है। इस प्रकार मंत्रालय में बैठे अधिकारी, मैदानी इलाकों में तैनात उपयंत्री यों का एक प्रकार से मजाक उड़ा रहे हैं। 

डिप्लोमा इंजीनियर एसोसिएशन के देव दोनेरिया,राम सिंह ने बताया है कि वर्तमान में सरकार पदौन्नति तो दे नहीं रही है और अब सेवनिवृतों को 62 वर्ष के बाद नियुक्ति देकर उच्च पद का प्रभार दिया जा रहा है जो कि न्यायसंगत नहीं है। कर्मचारी नेताओं ने इस प्रकार की सभी संविदा नियुक्तियों को निरस्त करने और डिपार्टमेंट में काम कर रहे नियमित उपयंत्री को एसडीओ के पद का प्रभार देने की मांग की है।

50 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्ति को किसी भी प्रकार की सेवा में लेने से पहले उसका मेडिकल टेस्ट होना अनिवार्य है। अनुसंधान का विषय है कि क्या नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण में रिटायर कर्मचारियों की नियुक्ति में स्वास्थ्य संबंधी नियमों का पालन किया जा रहा है।