MP NEWS- कर्मचारियों को अतिरिक्त प्रभार का अतिरिक्त वेतन नहीं दे रही सरकार

जबलपुर।
मध्य प्रदेश अधिकारी कर्मचारी संयुक्त मोर्चा के  जिला संरक्षक योगेन्द्र दुबे, जिलाध्यक्ष अटल उपाध्याय ने बताया है की मध्य प्रदेश शासन के  अधिकांश विभागों में नई भर्तियां ना होने एवं सेवानिवृत्ति होने के कारण अधिकारियों और कर्मचारियों के पद रिक्त हो गए हैं विभागों में जूनियर अधिकारियों और कर्मचारियों से वरिष्ठ अधिकारियों और वरिष्ठ कर्मचारियों के पदों का कार्य लिया जा रहा है लेकिन इन अधिकारियों और कर्मचारियों को वरिष्ठ अधिकारी कर्मचारी को  अतिरिक्त कार्य का अतिरिक्त वेतन नहीं दिया जा रहा है जबकि शासन के स्पष्ट निर्देश है कि अतिरिक्त कार्य का अतिरिक्त भुगतान किया जाए। 

कर्मचारियों से एक पद के स्थान पर दो तीन एवं चार पदों के स्थान का कार्य कराया जा रहा है उपयंत्री, कृषि विस्तार अधिकारी,कोसालय अधिकारी,आई टी आई प्राचार्य,वन कर्मी,वन मंडल अधिकारी,सहायक थाना प्रभारी,सहायक शिक्षक,अनुविभागीय अधिकारी, कार्यपालन यंत्री, स्वस्थ कर्मी,जिला शिक्षा अधिकारी,नायब तहसीलदार,आर आई,पटवारी,अधीक्षण यंत्री, मुख्य अभियंता ,सहायक ग्रेड 2 मानचित्र कार, चपरासी एवं कार्यभारित स्थापना के कर्मचारियों से भी उनके मूल पद के अतिरिक्त अन्य पदों का कार्य लिया जा रहा है इन कर्मचारियों को  8 घंटे के स्थान पर 12 और 15 घंटे लगातार कार्य करना पड़ रहा है लेकिन वेतन एक पद का ही दिया जा रहा है।

मध्य प्रदेश अधिकारी कर्मचारी संयुक्त मोर्चा के  जिला संरक्षक योगेन्द्र दुबे, जिलाध्यक्ष अटल उपाध्याय, संतोष मिश्रा ,नरेश शुक्ला , विश्वदीप पटेरिया , संजय गुजराल,  प्रसांत सोंधिया,मुकेश चतुर्वेदी,एस के बांदिल, प्रदीप पटैल, देव दोनेरिया, रविकांत दहायत, योगेस चौघरी, अजय दुबे ,योगेन्द्र मिश्रा, धीरेंद्र सिंह ,मुकेश मरकाम,आसुतोष तिवारी, चंदू जाऊलकर, नरेंद्र सेन,रजनीश पांडेय,संदीप नेमा, गोविंद विल्थरे ने मध्य मध्यप्रदेश शासन से मांग की है कि जिन अधिकारियों और कर्मचारियों से वरिष्ठ पदों का कार्य लिया जा रहा है उन्हें अतिरिक्त कार्य का अतिरिक्त भुगतान किया जाए यदि अतिरिक्त कार्य का अतिरिक्त भुगतान नहीं किया जाता है तो अधिकारी कर्मचारी संयुक्त मोर्चा द्वारा उग्र प्रदर्शन का रास्ता अपनाया जाएगा।