MP NEWS- सागर में रोजगार सहायक रिश्वत लेते गिरफ्तार, लोकायुक्त पुलिस की कार्रवाई

सागर।
मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ जिले में जनपद पंचायत पलेरा की ग्राम पंचायत पहाड़ी बुजुर्ग में एक हितग्राही से आवास योजना की किस्त डालने की एवज में रिश्वत लेना रोजगार सहायक को भारी पड़ गया। रिश्वत मांगने की शिकायत होने के बाद मंगलवार को लोकायुक्त पुलिस सागर ने रोजगार सहायक उसके घर पर ही 7000 रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ाया है। लोकायुक्त पुलिस ने रोजगार सहायक के विरुद्ध भ्रष्टाचार अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज करते हुए जांच में लिया।

लोकायुक्त डीएसपी राजेश खेड़ी ने बताया कि पहाड़ी बुजुर्ग के रहने वाले हितग्राही रविंद्र अहिरवार द्वारा लोकायुक्त पुलिस सागर में शिकायत की गई थी कि रोजगार सहायक संतोष कुशवाहा द्वारा आवास योजना के तहत तीसरी किस्त डालने के एवज में रिश्वत की मांग की जा रही है। शिकायत होने के बाद लोकायुक्त पुलिस सागर ने हितग्राही को एक टेप रिकॉर्डर दिया, जिसमें रिश्वत रूपी बातचीत रिकॉर्ड करने की बात कही गई। 

रिश्वत के लेन-देन की बात टेप रिकॉर्डर में होने के बाद लोकायुक्त पुलिस ने मंगलवार को ट्रैप करने की योजना बनाई। इस दौरान हितग्राही की ग्राम रोजगार सहायक संतोष कुशवाहा से मंगलवार को 7000 रुपए देने की बात हुई। तीसरी किस्त डालने के एवज में रिश्वत रूपी केमिकल लगे हुए नोट 7000 रुपए लेकर रविंद्र अहिरवार जैसे ही आरोपित रोजगार सहायक संतोष कुशवाहा के घर पहुंचा और रोजगार सहायक को 7000 थमाए। वैसे ही लोकायुक्त टीम वहां पहुंच गई और तत्काल ही आरोपित ग्राम रोजगार सहायक के हाथ दिलवाए गए। आरोपी के विरुद्ध लोकायुक्त पुलिस ने भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत मामला दर्ज करते हुए जांच में लिया है। कार्रवाई जारी है।