MP NEWS- TI सहित 7 पुलिसकर्मी सस्पेंड, चांदी से भरी कार पकड़ने का मामला

सागर। 
मध्य प्रदेश के सागर में टोल नाके पर चांदी से भरी कार पकड़ने और छोड़ने के पुलिस पर लगे आरोप मामले की जांच पूरी हो गई है। जांच रिपोर्ट में अपने कर्तव्य स्थलों से बिना सक्षम अधिकारी की अनुमति के क्षेत्राधिकार से बाहर जाकर अनाधिकृत चेकिंग करना और घटनाक्रम के संबंध में रोजनामचा इंद्राज आदि नहीं किए जाने के बिंदु पर पुलिसकर्मी दोषी पाए गए हैं।

वहीं पुलिस निरीक्षक सतीश सिंह द्वारा घटनाक्रम में मुखबिर की सूचना से अवगत होने के बावजूद वरिष्ठ अधिकारियों और संबंधित थाना क्षेत्र के थाना प्रभारी मालथौन को सूचना दिए बगैर क्षेत्राधिकार से बाहर जाकर चेकिंग कराई गई। जिससे स्वेच्छाचारिता और संदिग्ध आचरण के परिणामस्वरूप विभागीय छवि धूमिल हुई। जांच के आधार पर एसपी तरुण नायक ने मोतीनगर थाना प्रभारी सतीश सिंह समेत 7 पुलिसकर्मियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है।

निलंबित पुलिसकर्मी 

एसडीओपी खुरई सुमित केरकेट्‌टा की जांच रिपोर्ट के बाद एसपी नायक ने कार्रवाई करते हुए मोतीनगर थाना प्रभारी सतीश सिंह, कार्यवाहक प्रधान आरक्षक मुकेश जाटव, अमित चौबे, आरक्षक आशीष गौतम, प्रदीप शर्मा, मनीष तिवारी, हेमंत ठाकुर को निलंबित किया है। जांच में पाया गया कि थाना प्रभारी सतीश सिंह के निर्देश पर मुखबिर से प्राप्त सूचना के सत्यापन के लिए मालथौन टोल नाके पर क्षेत्राधिकार से बाहर जाकर निर्धारित गणवेश के बिना सादा वर्दी में बगैर सक्षम अधिकारी को सूचना दिए अनाधिकृत चेकिंग की गई। जांच के दौरान कार की चेकिंग में चांदी मिलने जैसे कोई साक्ष्य नहीं मिले हैं।

सागर के मालथौन के टोल नाके पर कार से चांदी पकड़ने और छोड़ने का पुलिस पर आरोप लगा था। मामला सोशल मीडिया पर सामने आने के बाद एसपी ने संज्ञान में लिया। एसडीओपी खुरई को मामले की जांच सौंपी गई थी। 12 सितंबर की सुबह करीब 6 बजे मालथौन टोल नाके पर करीब 6 पुलिसकर्मियों ने एक कार को पकड़ा था। इसकी चेकिंग की गई और फिर छोड़ दिया गया था। मामले में उक्त कार में चांदी होने के बाद भी पुलिस द्वारा छोड़े जाने का आरोप लगा था। मामले में पुलिस ने कार चालक और उसमें सवार व्यापारी के बयान लिए थे। जिसमें कार में चांदी होने संबंधी साक्ष्य नहीं मिले।