मध्य प्रदेश मानसून- GWALIOR के आसमान में बादलों का खतरनाक चक्रवात- MP WEATHER FORECAST

भारत मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार मध्य प्रदेश के ग्वालियर शहर सीमा क्षेत्र के आसमान में बादलों का चक्रवाती घेरा बना हुआ है। इसके कारण ग्वालियर और आसपास के इलाकों में कहीं हल्की तो कहीं भारी बारिश हो रही है। ग्वालियर के चक्रवात का असर राजधानी भोपाल तक दिखाई दे रहा है। 

मौसम विभाग का कहना है कि अगले 3 से 4 दिन मध्यप्रदेश में बादल छाए रहेंगे और हल्की से मध्यम बारिश का दौर जारी रहेगा। मौसम वैज्ञानिकों ने बताया कि मध्य प्रदेश के आसमान में चार तरफ से बादल आ रहे हैं। उत्तर पूर्वी राजस्थान से छत्तीसगढ़ नॉर्थ तक बादल छाए हुए हैं। पश्चिम के बादलों का घना घेरा पाकिस्तान के ऊपर बना हुआ है। और हवाओं के साथ वह बादल मध्यप्रदेश तक आ रहे हैं। समुद्र के किनारे आंध्र प्रदेश के आसमान पर भी बादलों का एक चक्रवात है और वह बादल भी मध्यप्रदेश के आसमान तक आ रहे हैं। 

चारों तरफ से आ रहे बादलों का एक चक्रवात ग्वालियर के आसमान पर बन गया है। मौसम विशेषज्ञों का कहना है कि कम से कम अगले 24 घंटे ऑब्जरवेशन में रहने की जरूरत है। मौसम के बारे में सटीक भविष्यवाणी नहीं की जा सकती लेकिन एक बात सुनिश्चित है कि खतरा बना रहेगा और सावधान रहने की जरूरत है। यह भी संभव है कि यह चक्रवात बिना कोई नुकसान पहुंचाए हल्की बूंदाबांदी के साथ खत्म हो जाए।

अगले 24 घंटे के दौरान ग्वालियर, चंबल, बुंदेलखंड, बघेलखंड और भोपाल संभाग में हल्की बारिश होने की संभावना है। भोपाल, रायसेन, राजगढ़, विदिशा, सीहोर, अशोकनगर, गुना, ग्वालियर, शिवपुरी, दतिया, भिंड, मुरैना, श्योरपुरकलां, रीवा, सतना, सीधी, सिंगरौली, छतरपुर, सागर, टीकमगढ़, पन्ना, दमोह, देवास और पन्ना में कहीं-कहीं हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है।