मध्य प्रदेश मानसून- 16 जिलों में भारी वर्षा होगी, बाढ़ का खतरा- MP WEATHER FORECAST

मध्यप्रदेश में आफत की बारिश करने वाले बादल हिमालय पहुंच गए हैं परंतु तमिलनाडु के आस पास वाले समुद्र से बादलों का एक और रेला मध्यप्रदेश के आसमान पर छा रहा है। इसके कारण कुछ स्थानों पर अचानक बारिश शुरू हो गई है। भारत मौसम विज्ञान विभाग ने मध्य प्रदेश के 16 जिलों के लिए चेतावनी जारी की है, क्योंकि मध्य प्रदेश के सभी बांध लगभग फुल टैंक लेवल पर हैं इसलिए इस बारिश से एक बार फिर बाढ़ का खतरा बन गया है। 

मध्य प्रदेश मौसम का पूर्वानुमान- 16 जिलों के लिए येलो अलर्ट जारी

मौसम केंद्र भोपाल के अनुसार शहडोल, उमरिया, अनूपपुर, विदिशा, रायसेन, सीहोर, भोपाल, सतना, कटनी, झाबुआ, अलीराजपुर, खरगौन, बड़वानी, धार, इंदौर और देवास के कुछ इलाकों में भारी वर्षा की संभावना है। जबकि रीवा, शहडोल, जबलपुर, भोपाल, इंदौर व नर्मदापुरम संभागों के जिलों में तथा पन्ना, दमोह, रतलाम, उज्जैन देवास, आगर एवं शाजापुर जिलों में हल्की बारिश लेकिन वज्रपात का खतरा है। 

मध्य प्रदेश मौसम समाचार- कहां कितनी बरसात हुई

पिछले 24 घन्टों के दौरान प्रदेश के शहडोल, जबलपुर, नर्मदापुरम, इंदौर एवं भोपाल संभागों के जिलों में कुछ स्थानो पर तथा रीवा, सागर, उज्जैन, चंबल एवं ग्वालियर संभागों के जिलों में कहीं कहीं वर्षा दर्ज की गई। 

मध्य प्रदेश में सबसे अधिक वर्षा कहां-कहां हुई 

बड़वानी में 10 सेंटीमीटर, वारासिवनी, पुष्पराजगढ 9 सेंधवा 8 करांजिया, अठनेर 7, राजपुर, सिवनी एवं अनूपपुर में 6 सेंटीमीटर वर्षा दर्ज की गई।