INDORE NEWS- हाई प्रोफाइल पायल के मोबाइल की जांच शुरू

इंदौर
। जिला जेल की हाइप्रोफाइल कैदी पायल सैमुअल से जब्त फोन ने हड़कंप मचा दिया है। संयोगितागंज पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। पुलिस मोबाइल की काल डिटेल निकालकर उन लोगों की जानकारी जुटा रही है जो पायल के संपर्क में थे। पायल क्यों और किस-किस से बात करती थी इसकी रिपोर्ट तैयार हो रही है।

जिला जेल के महिला वार्ड की चार नंबर बैरक में बंद हाइप्रोफाइल ठग पायल से 21 अगस्त को मोबाइल जब्त हुआ था। जेल अधीक्षक अजमेर सिंह ठाकुर ने मोबाइल सहित पुलिस को शिकायत कर दी। पुलिस के मुताबिक मोबाइल के नंबर निकाल लिए है। उसकी काल डिटेल निकाली जा रही है। कैदी वाट्सएप पर भी चेटिंग कर रही थी। साइबर सेल की मदद से उसका डेटा भी निकाला जा रहा है। हालांकि पैटर्न लाक होने के कारण अभी मोबाइल की जांच नहीं हो पाई है।

हाइप्रोफाइल लेडी ठग चला रही जेल में गुट

जेल सूत्रों के मुताबिक जिस बैरक से मोबाइल मिला उसमें करीब 14 महिलाएं बंद है। उसी में करोड़ों की ठगी की आरोपित उर्वशी भदौरिया भी शामिल है। उर्वशी के माध्यम से ही फोन आने की जानकारी मिली है। बताया जाता है कि उर्वशी के भाई शुभम ने करीब डेढ महीने पूर्व जेल में फोन पहुंचाया था। हालांकि उर्वशी और पायल बयान बदल रही है। दोनों एक दूसरे पर ही आरोप मढ़ रही है। जेल प्रशासन ने प्रारंभिक रुप से महिला कैदियों की मदद करने वाली प्रहरी रुबिना को निलंबित कर दिया है।

सेंट्रल जेल की अधीक्षक अलका सोनकर मामले की जांच कर रही है। पायल ने सहायक जेल अधीक्षक श्वेता मीणा पर भी मिली भगत का आरोप लगाया है। जिला जेल के अधीक्षक अजमेरसिंह ठाकुर के मुताबिक श्वेता ही बैरक में जांच करने पहुंची थी। उन्होंने तो मोबाइल की जब्ती बनाई है।