मध्य प्रदेश के कई जिलों में स्कूलों की छुट्टी घोषित- MP NEWS

भारत मौसम विज्ञान विभाग द्वारा रेड अलर्ट जारी किए जाने के बाद मध्य प्रदेश के कई जिलों में स्कूलों की छुट्टी घोषित कर दी गई है। दिनांक 22 अगस्त 2022 को सभी सरकारी एवं प्राइवेट स्कूल बंद रहेंगे। प्ले स्कूल से लेकर कक्षा 12 तक सभी प्रकार की शिक्षण संस्थाएं बंद रहेंगे। भोपाल समाचार की ओर से नागरिकों से अपील की जा रही है कि मौसम खराब होने की स्थिति में सभी प्रकार की यात्राएं स्थगित कर दें। बच्चों को घर से बाहर नहीं निकलने दें। नदी नालों एवं जलभराव वाले इलाकों से दूर रहें।

समाचार लिखे जाने तक मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल, मंडला, अशोकनगर, गुना, राजगढ़, सागर, जबलपुर, सीहोर, शहडोल, उमरिया, अनूपपुर, विदिशा जिलों में कलेक्टर द्वारा स्कूलों की छुट्टी घोषित कर दी गई है। स्पष्ट किया गया है कि सभी प्रकार के सरकारी और प्राइवेट शिक्षण संस्थान बंद रखे जाएंगे। उल्लेखनीय है कि मध्य प्रदेश के कई इलाकों में घनघोर और कई इलाकों में मूसलाधार बारिश शुरू हो गई है। नदियों का जलस्तर खतरे के निशान के आस पास आ गया है। बांधों के गेट खोल दिए गए हैं। 

मध्य प्रदेश के 21 जिलों में छुट्टी घोषित हो या ना हो, स्कूल जाना जरूरी नहीं

मौसम केंद्र भोपाल के अनुसार भोपाल, विदिशा, रायसेन, राजगढ़, सीहोर, ग्वालियर, शिवपुरी, गुना, अशोकनगर, दतिया, उज्जैन, देवास, आगर-मालवा, शाजापुर, रतलाम, मंदसौर, नीमच, सागर, दमोह, नरसिंहपुर एवं जबलपुर जिलों में रेड अलर्ट जारी किए गए हैं। सरकार की तरफ से चेतावनी जारी की गई है यानी इन इलाकों में यदि बारिश हो रही है या फिर मौसम खराब है तो स्कूल जाने की जरूरत नहीं है। रेड अलर्ट की स्थिति में कोई भी संस्थान बच्चों को घर से बाहर आने के लिए नहीं कह सकता।

मध्यप्रदेश शासन की ओर से अपील एवं निर्देश जारी किए गए हैं। रेड अलर्ट वाले इलाकों में किसी भी स्थिति में बहते हुए पानी के नजदीक ना जाए। पुलिस एवं प्रशासन को निर्देशित किया गया है कि वह ऐसे सभी मार्गों पर यातायात बंद कर दे जहां पर पानी भर रहा है। नदियों के आसपास वाले इलाकों में अलर्ट जारी किया गया है। नागरिकों से अपील की गई है कि वह स्थानीय प्रशासन का सहयोग करें। खत्री की स्थिति में स्वयं को सुरक्षित करने के लिए गाइडलाइन का पालन करें।