GWALIOR NEWS- इमरती देवी और नरोत्तम मिश्रा के बीच कोल्ड वार सुर्खियों में

ग्वालियर
। भारतीय जनता पार्टी में अपने अस्तित्व की लड़ाई लड़ रही इमरती देवी ने नगरीय निकाय चुनाव के दौरान नगर परिषद पिछोर पर कब्जा करने के लिए कैबिनेट मंत्री नरोत्तम मिश्रा से सीधी लड़ाई शुरु कर दी। डबरा विधानसभा में आने वाली पिछोर नगर परिषद पर इमरती देवी का कब्जा हो गया और इसी के साथ इमरती एवं नरोत्तम के बीच कोल्ड वार मध्य प्रदेश की स्टेट पॉलिटिक्स में चर्चा का विषय बन गई।

ग्वालियर जिले की डबरा विधानसभा क्षेत्र नरोत्तम मिश्रा का गढ़ है। इमरती देवी भी इसी क्षेत्र से राजनीति करती हैं। जब तक इमरती देवी कांग्रेस पार्टी में थी, कोई समस्या नहीं थी लेकिन ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ इमरती देवी भी भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गई। अब डबरा में दोनों विरोधी गुट भारतीय जनता पार्टी में है। वर्षों से चली आई लड़ाई, सिंधिया के पार्टी बदलने से शांत होने वाली नहीं थी। आज भी स्थिति यह है कि इमरती देवी और भारतीय जनता पार्टी के पुराने कार्यकर्ताओं के बीच बिल्कुल वैसी ही तनातनी चल रही है जैसी दल बदल के पहले चलती थी।

ज्योतिरादित्य सिंधिया भी पिछले कुछ दिनों से इमरती देवी को कुछ खास महत्व नहीं दे रहे थे। ज्योतिरादित्य सिंधिया के दौरे के समय और खास दिनों में इमरती देवी उनके आसपास दिखाई नहीं दी। 2023 का विधानसभा चुनाव नजदीक आ गया है। इमरती देवी के पास सिर्फ एक ही मौका था। उन्होंने इसका पूरा उपयोग किया और नरोत्तम मिश्रा से सीधी टक्कर लेते हुए पिछोर नगर परिषद के अध्यक्ष पद पर कब्जा कर लिया। अब देखना यह है कि इस संघर्ष के कारण इमरती देवी का टिकट पक्का होता है या नहीं।