BHOPAL NEWS- पूरे शहर में इमरजेंसी, 36 घंटे से लगातार बारिश, बिजली बंद, त्राहि-त्राहि

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में पिछले 36 घंटे से लगातार बारिश हो रही है। इसके कारण आधे से ज्यादा शहर तालाब बन गया है। कहीं बिजली के खंभे तो कहीं पेड़ गिर गए हैं। तेज आंधी और बारिश के कारण इलेक्ट्रिसिटी सप्लाई बंद कर दी गई है। हालात चिंताजनक हो गए हैं और कलेक्टर भोपाल की ओर से कोई हेल्पलाइन नंबर जारी नहीं की गई है। महापौर मालती राय केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के स्वागत सत्कार में व्यस्त हैं। उन्होंने ट्विटर के जरिए लास्ट अपडेट यही दिया है। 

150 से ज्यादा इलाके जलमग्न, लोग घर छोड़कर मित्र-रिश्तेदार और होटलों में शिफ्ट हुए


भोपाल शहर में रविवार रात साढ़े 8 बजे से अब तक साढ़े 7 इंच से ज्यादा बारिश हो चुकी है। शहर के हालात का इसी बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि 150 से ज्यादा इलाके जलमग्न हो गए हैं। ईंटखेड़ी नदी के उफान पर आने से भोपाल का बैरसिया से संपर्क टूट गया है। कई लोग घर छोड़कर दूसरी जगह शिफ्ट हो गए हैं। तेज आंधी और बारिश से 100 से अधिक पेड़ गिरने से कई रास्ते बंद हो गए हैं। करीब 200 इलाकों में बिजली रातभर से गुल है। अभी भी कई इलाकों में बिजली सप्लाई शुरू नहीं हो सकी है। खराब मौसम के कारण भोपाल आने वाली सभी फ्लाइट डायवर्ट कर दी गई है।

भोपाल तालाब के बोट क्लब में क्रूज लेक प्रिंसेस डूब गया

लगातार पानी के आने से कलियासोत डैम के 7 और भदभदा के 5 गेट खुल दिए गए हैं। बड़ा तालाब के उफान पर आने से बोट क्लब में क्रूज लेक प्रिंसेस आधा डूब गया और किनारे से दूर चला गया। 20 से ज्यादा कर्मचारियों ने रस्सों की मदद से उसे बाहर निकाला। हालांकि, अभी भी क्रूज आधा डूबा हुआ है। क्रूज की एक मंजिल पूरी तरह से डूब चुका है। कर्मचारी दूसरी बोटों को भी किनारों पर लाने में लगे हैं। 50 से ज्यादा बतख को बचाने की भी कवायद जारी है।

कोलार की सभी कॉलोनियों में पानी-पानी

राजधानी के कोलार में सबसे ज्यादा पानी भरा हुआ है। यहां की अधिकांश कॉलोनियों में पानी भर गया है। ललिता नगर और नयापुरा की 50 से ज्यादा दुकानों में पानी भर गया। बावड़िया कलां, दानिशकुंज, मंदाकिनी समेत कई इलाके भी प्रभावित हैं।

भोपाल राजधानी में 100 से ज्यादा पेड़ गिरे

मौसम विभाग की माने तो रात और सुबह तेज रफ्तार से हवा चली। इस कारण बावड़िया कलां, श्यामला हिल्स, होशंगाबाद रोड, नीलबड़, रातीबड़, कोलार, बाग सेवनिया समेत कई इलाकों में 100 से ज्यादा पेड़ गिर गए।

कलियासोत के 7, भदभदा के 5 गेट खुले

भोपाल में लगातार जारी तेज बारिश के बाद डैम ओवरफ्लो हो गए हैं। बड़ा तालाब में 5 से 6 फीट ऊंची लहरें उठ रही हैं तो कलियासोत और भदभदा डैम के गेट भी खोले गए। अभी कलियासोत के 7 और भदभदा के 5 गेट खुले हुए हैं।

लगभग पूरे शहर में बिजली बंद 

लगातार बारिश होने के कारण विद्युत वितरण कंपनी ने लगभग पूरे शहर की बिजली बंद कर दी है। शहर में त्राहि-त्राहि के हालात हो गए हैं।