Small Business Ideas- दूसरों की पूंजी पर अपनी दुकान सजाइए, लाख रुपए महीना कमाइए

दुनिया के जितने भी बड़े कारोबारी हैं, अपना बिजनेस बढ़ाने के लिए कर्मचारियों को नियुक्त करना पसंद नहीं करते बल्कि एक्टिव और क्रिएटिव लोगों के साथ पार्टनरशिप करना पसंद करते हैं। इसका फायदा यह होता है कि उनके ऊपर किसी कर्मचारी की लायबिलिटी नहीं होती और आपको अपनी दुकान खोलने के लिए पूंजी की जरूरत नहीं होती। 

आज अपन एक ऐसे धांसू बिजनेस आइडिया के बारे में डिसकस करेंगे। जो अपन से पहले भी कुछ लोग कर रहे हैं और लाखों रुपए कमा रहे हैं। अपन भी कमाएंगे। फेसबुक का नाम तो आपने भी सुना होगा। जिस कंपनी द्वारा यह वेबसाइट संचालित की जाती है उसका नाम है Meta. इस कंपनी ने करोड़ों रुपए का इन्वेस्टमेंट करके एक नया marketplace शुरू किया है। अपने एरिया के दुकानदारों के बारे में भी आप जानते ही होंगे। उन्होंने भी लाखों रुपए इन्वेस्ट करके अपनी दुकान शुरू की है। अपन, इन दोनों की इन्वेस्टमेंट पर अपनी दुकान सजाएंगे। 

पॉइंट टू पॉइंट समझिए काम क्या करना है

  • एक स्पेशल ट्रेड या कैटेगरी का चुनाव कीजिए। उदाहरण के तौर पर मान लेते हैं भवन निर्माण यानी बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन। 
  • अब इससे संबंधित लिस्ट तैयार कीजिए। ठेकेदार, रेत, सीमेंट, सरिया, कंक्रीट, ईंट, आर्किटेक्ट, सेनेटरी का सामान, लाइट फिटिंग, टाइल्स, इंटीरियर डेकोरेशन का सामान और वह सब कुछ जो या नहीं लिखा। 
  • फर्स्ट फेस में इनमें से कुछ दुकानदारों से डील कीजिए। यदि हम आपकी सेल बढ़ाएंगे तो आप कितना कमीशन देंगे। 
  • अब गूगल पर Facebook Marketplace सर्च कीजिए। 
  • Facebook Marketplace: Buy and Sell Items Locally or Shipped दिखाई देगा, क्लिक कीजिए। 
  • Create new listing पर क्लिक कीजिए और सारे प्रोडक्ट एवं सेवाओं की लिस्टिंग शुरू कर दीजिए। 
  • आपको ग्राहकों की तलाश में कहीं जाने की जरूरत नहीं है। ग्राहक आपसे संपर्क करेंगे। 
  • आप कौन से आर्डर कलेक्ट करना है और संबंधित दुकानदार से कोडिनेट करते हुए ऑर्डर की डिलीवरी करनी है। 
  • इसके बाद पेमेंट कलेक्ट कीजिए, प्रॉफिट दुकानदार का लेकिन कमीशन आपका। 
  • बिना पूंजी लगाए आप दर्जनों दुकानों का सामान बेच सकते हैं। 
  • ना तो डोर टू डोर सेल्समैनशिप करनी पड़ेगी और ना ही अपना इन्वेस्टमेंट लगाकर दुकान चलानी पड़ेगी। 
  • जिस प्रोडक्ट की डिमांड है उस पर फोकस कीजिए। 
  • जब कॉन्फिडेंस का लेवल 100% हो जाए तो उस प्रोडक्ट का कारोबार खुद शुरू कर दीजिए। 
  • इन्वेस्टमेंट तब कीजिए जब प्रॉफिट मार्जिन और ग्राहकों की संख्या सब कुछ आपके पास में हो।