विदिशा में बाढ़, स्कूल कॉलेजों की छुट्टी, लोगों को बचाने रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू- MP NEWS

भोपाल
। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल और आसपास के इलाकों में शनिवार रात से लगातार बारिश हो रही है। इसके कारण विदिशा में बाढ़ के हालात बन गए हैं। घरों-दुकानों में पानी भर गया है। सड़कें नदियों में तब्दील हो गई है। कलेक्टर ने स्कूल कॉलेजों की छुट्टी घोषित कर दी है और प्रशासनिक स्तर पर लोगों को बचाने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू हो गया है। 

विदिशा जिले में बेतवा नदी उफान पर है। पड़ोसी जिले रायसेन में भी पानी भर गया है। विदिशा के कलेक्टर कार्यालय द्वारा बताया गया है कि विदिशा शहर में बाढ़ प्रभावितों के लिए राहत शिविर का संचालन शुरू हुआ। सेंट मेरी स्कूल में बंटीनगर क्षेत्र के बाढ़ पीड़ितों को पहुंचाया गया है। 

विदिशा शहर के बंटीनगर तथा सागर पुलिया क्षेत्र में पानी भर गया है। करोड़ों की संपत्ति का नुकसान हो चुका है। लोग बाढ़ के पानी में फंसे हुए हैं। कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने जलभराव की सूचना प्राप्त होने पर मौके पर पहुंचकर जायजा लिया और जल निकासी के कार्यों के साथ बाढ़़ से बचाव के राहत कार्यों की शुरुआत कराई है।

गत रात्रि हुई वर्षा से रायपुरा पानी में डूबता हुआ नजर आ रहा है। जल निकासी हेतु एसडीएम श्री गोपाल सिंह वर्मा की निगरानी में जेसीबी की मदद से जल निकासी का कार्य शुरू किया गया है। 

आज विदिशा तहसील में 200 मिलीमीटर (लगभग 8 इंच) रिकॉर्ड वर्षा दर्ज हुई। विदिशा का ड्रेनेज सिस्टम पूरी तरीके से फेल हो चुका है। लोगों में आक्रोश है। जब कलेक्टर मौका मुआयना के लिए निकले तो लोगों ने अपनी नाराजगी प्रकट की। अति वर्षा के चलते जिला प्रशासन द्वारा विदिशा शहर के समस्त विद्यालयों का आज दिनांक 11 जुलाई 2022 को अवकाश घोषित किया गया है।

मध्यप्रदेश की शिवराज सिंह चौहान सरकार के प्रवक्ता एवं गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि प्रदेश में वर्तमान में भोपाल संभाग के आसपास बाढ़ की स्थिति है। विदिशा में 3.30 घंटे में 8 इंच बारिश हुई है। 55 लोग रेस्क्यू कर राहत कैंप में पहुंचाए गए हैं। नर्मदा और बेतवा नदी के किनारे रहने वाले लोगों के लिए अलर्ट जारी करते हुए ऊंचे स्थानों पर जाने को कहा गया है।