JABALPUR में एजेंट के बिना पेंशन प्रकरण नहीं बनते: कर्मचारी संयुक्त मोर्चा

जबलपुर
। मध्यप्रदेश अधिकारी कर्मचारी संयुक्त मोर्चा जबलपुर जिला अध्यक्ष अटल उपाध्याय ने बताया है कि जबलपुर पेंशन कार्यालय में पेंशन प्रकरणों में आपत्ति लगा कर भारी परेशान किया जा रहा है, केस करवाने के लिए पैसे मांगे जाते है।

कार्यालय के अधिकारी और कर्मचारियों के दलाल बाहर घूमते रहते है यही दलाली कर केस निपटवाने का सौदा करते है। पेंसन कार्यालय के अधिकारी श्री शामदेकर से इस संबंध में चर्चा कर उन्हें दलालों की जानकारी दी गई। उनसे अवैध कार्यवाही को रोकने कदम उठाने चर्चा की गई। उन्हें बताया गया कि रिटायर या मृत कर्मचारियों की सेवा पुस्तिकाओं में अनावश्यक आपत्तियां लगा कर पेंशन, ग्रेच्यूटी के केसों को लटकाया जा रहा है। 

पीएचई, पीडब्लूडी, शिक्षा विभाग के रिटायर सहायक मान चित्रकार, लिपिक , ट्रेसर और वाहन चालकों , समयपालों को रिटायर होने के 2 माह पस्चात भी पेंसन एवं ग्रेच्यूटी नहीं दी ही है। परेशान कर्मी कार्यलयों के चक्कर काट रहे है।  

पेंसन कार्यालय पीपीओ जारी करने सेवा पुस्तिकाओं को भेजा जा रहा है लेकिन कार्यालय के कर्मचारियों से शांठ बनाकर बाहर घूम रहे जानकर दलाल हरे पेन से आपत्ति लगवाकर सेवा पुस्तिका को वापिस भेज देते है आपत्ति का निराकरण करने के पश्चात जमा रिकॉर्ड में फिर नई आपत्ति लगा देते है।

मोर्चा पदाधिकारियों ने आपत्ति के नाम पर कर्मचारियों को परेसान करने की कटु निंदा की है। पूर्व में निस वेतन मान का अनुमोदन किया जा चुका है उसमें आपत्ति लगाना वहीं के अफसरों की नाकामी बता रहा है, अनुमोदित रिकॉर्ड पर पुनः आपत्ति लगाने की घोर निंदा की है। 

मध्यप्रदेश अधिकारी कर्मचारी संयुक्त मोर्चा के अटल उपाध्याय, संतोष मिश्रा ,नरेस शुक्ला, विश्वदीप पटेरिया, रविकांत दहायत, संजय गुजराल, मुकेश चतुर्वेदी, देव दोनेरिया, एस के बांदिल, प्रसांत सोंधिया, योगेश चौधरी, मुकेश मरकाम, धीरेन्द्र सिंह, अजय दुबे, योगेंद्र मिश्रा, नरेंद्र सेन, चंदू जाऊ लकर,डा संदीप नेमा, मंसूर वेग,गोविंद विल्थरे, अर्जुन सोमवंसी ,रवि बांगड़ ने पेंसन कार्यलय के बाहर घूमने वाले दलालो  पर कड़ी कार्यवाही कर ,समस्त पेंसन प्रकरणों  का तत्काल निराकरण करने  की मांग की है।