What is a Good Score or Qualifying Score in CTET in Hindi

केंद्रीय शिक्षक की पात्रता के लिए टेस्ट में कितने नंबर आने चाहिए

CTET एग्जाम एक क्वालीफाइंग एग्जाम है। जिसमे मैरिट बहुत ज्यादा मायने नहीं रखती बल्कि क्वालीफाइंग मार्क्स मायने रखते हैं। क्वालीफाईंग मार्क्स जो कि जनरल कैटेगरी या Unreserved category के लिए- 90 अंक निर्धारित हैं। जबकि SC/ST/OBC के लिए -82.5 अंक निर्धारित है। अधिकतम आप कितने भी नंबर ला सकते हैं।

Is CTET exam Difficult or Tough

यदि आप सही स्ट्रैटेजी और सही दिशा में तैयारी करेंगे तो सीटैट एग्जाम क्वालीफाई करना काफी आसान है। सीटेट एग्जाम में सबसे मुख्य विषय होता है पैडागॉजी (शिक्षाशास्त्र) जो कि प्रत्येक विषय
PAPER 1 (लैंग्वेज1,लैंग्वेज 2, मैथ्स, एनवायरनमेंटल स्टडीज़) के साथ में 15-15 नंबर की दी हुई होती है और अलग से भी 30 नम्बर CDP(Child Development and Pedagogy; बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र) में भी इन्क्लूडेड होती है।

PAPER 2 (लैंग्वेज1,लैंग्वेज 2 सब्जेक्ट- मैथ्स साइंस या सोशल साइंस) के साथ मैं भी 15-15 नंबर की Pedagogy दी हुई होती है और अलग से 30 नंबर CDP यानी चाइल्ड डेवलपमेंट एंड साइकोलॉजी के लिए निर्धारित है। पी।

यानी की ओवरऑल देखा जाए तो सिर्फ 90 नंबर की तो पेडागोजी ही किसी न किसी रूप में पूछी जाती है। इसलिए यदि आपकी पैडागॉजी पर अच्छी पकड़ है तो आप  सीटेट एग्जाम  आसानी से क्वालीफाई कर सकते हैं।