JABALPUR NEWS- माँ-बेटी की लाश फांसी पर लटकी मिली, 2 दिन पहले बच्ची को जन्म दिया था

जबलपुर। जबलपुर के भेड़ाघाट थाना क्षेत्र में की लाश फांसी पर लटकी मिली है। बताया जा रहा है कि दो दिन पहले ही युवती ने एक बच्ची को जन्म दिया है। ससुराल में बिना किसी को बताए वह अपनी मां के साथ मायके आ गई थी।

नवजात को मेडिकल कॉलेज में जन्म देने के बाद एक महिला ने अपनी माँ के साथ फाँसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना भेड़ाघाट थाना के बटियाबारी गाँव की है। जहाँ घर के अंदर माँ-बेटी फाँसी पर झूलते हुए मिले। माँ-बेटी की मौत से पूरे गाँव मे सनसनी फैल गई। ग्रामीणों की सूचना पर भेड़ाघाट थाना पुलिस मौके पर पहुँची और पंचनामा कार्रवाई आत्महत्या की वजह तलाश करने में जुट गई है।

जानकारी के मुताबिक बटियाबारी गाँव की युवती रागनी का बन्दरकोला निवासी भगवान दास से विवाह हुआ था। चार दिन पहले रागनी की मेडिकल कॉलेज में डिलेवरी हुई थी। रागनी अपने नवजात बच्चे को मेडिकल कॉलेज में सास के पास छोड़कर माँ अनीता बाई के साथ बिना किसी को कुछ बताए घर आ जाती है। पत्नी को अस्पताल से गायब देख पति भगवान दास दोंनो को तलाश करते हुए ससुराल बटियाबारी गाँव पहुँचता है जहाँ उसे पत्नी और सास मिलती है। भगवान दास दोंनो से बिना किसी को कुछ बताए मेडिकल से घर आने की वजह पूछता है जिस पर दोनो चुप रहती है।

भगवान दास अपनी पत्नी रागनी और सास अनीता से मेडिकल चलने को बोलता है पर वो तैयार नही होती। भगवान दास के काफी जिद करने पर सास अनीता बाई कहती है कि आप चलो हम लोग आ रहे है। इसके बाद भगवान दास मेडिकल कॉलेज आ जाता है। कुछ देर बाद उसे फोन आता है कि उसकी पत्नी रागनी और सास संगीता ने घर पर फाँसी लगाकर आत्महत्या कर ली। जानकारी लगने के बाद भगवान दास ससुराल पहुँचता है जहाँ दोनो फाँसी पर लटके हुए मिलते है। ग्रामीणों की सूचना पर भेड़ाघाट थाना पुलिस भी मौके पर पहुँच जाती है।

पुलिस ने प्रारंभिक जाँच में पाया है कि माँ-बेटी डरी हुई थी जिसके कारण संभवता आत्महत्या करने का कदम उठाया। भेड़ाघाट थाना पुलिस के मुताबिक मेडिकल कॉलेज से बिना किसी को बताए माँ-बेटी अपने घर आ गई थी। इसको लेकर गाँव मे चर्चा होने लगी कि मेडिकल कॉलेज प्रबंधन पुलिस से माँ-बेटी की शिकायत न कर दे। पुलिस भी मान रही है कि कही न कही बिना किसी को कुछ बताए मेडिकल कॉलेज से माँ-बेटी आ गई थी जिसका डर उनके दिल मे समा गया था।

भेड़ाघाट थाना पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद माँ-बेटी के शवों को परिजनों को सौप दिया है। वही पुलिस अब ग्रामीणों सहित मृतको के परिवार वालों से पूछताछ भी कर रही है। पुलिस ने मृतिका रागनी के पति भगवान दास के बयान दर्ज कर इस दोहरी मौत की असल वजह जानने में जुटी हुई है।