MP NEWS- प्रेम में दीवानी युवती ने टीचर के बेेटे हत्या की, जेवरात लेकर फरार

रायसेन
। मध्य प्रदेश के रायसेन जिले में अपने प्यार के लिए एक युवती ने अपने ट्यूशन टीचर के बेेटे को सल्फास की गोलियां खिलाकर मार डाला। साथ ही टीचर के घर से सोना-चांदी के जेवरात और नगदी लेकर वह फरार हो गई। मामले में पुलिस ने युवती और उसके प्रेमी को गिरफ्तार कर लिया।

सांची के गुलगांव में रहने वाली युवती जैनी जोशी का 3 साल से अभिषेक सराठे के साथ प्रेम प्रसंग चल रहा था। उसके प्रेम में दीवानी युवती ने अपने मां के ही जेवर चुराकर अपने प्रेमी को थमा दिए। प्रेमी ने यह जेवर 90 हजार में उन्हें एक ज्वेलर्स के यहां पर गिरवी रख दिया। जब युवती के माता-पिता को यह बात पता चली तो उन्होंने अभिषेक के खिलाफ FIR दर्ज करा दी है।

सांची के रहने वाले शैलेंद्र नेमा कोचिंग पढ़ाते हैं। उनके पड़ोस में रहने वाली जैनी जोशी भी उनसे अक्टूबर-नवंबर में कोचिंग पढ़ने आई थी। तब से वे उनके घर कोचिंग पढ़ती थी। उसका घर पर आना जाना था। गुरुवार को वह भोपाल अपनी पत्नी के साथ आंख का इलाज कराने गए थे। इसी बात का फायदा उठाकर जैनी उनके घर गई। घर पर उनका 12 साल का बेटा विनायक नेमा अकेला था। जैनी अपने साथ सल्फास की गोलियां लेकर आई थी और किचन में जाकर उसने बेलन से गोलियों को पीसा और गिलास में पानी में घोल दिया। उसके बाद जैनी ने विनायक को गिलास दिया। उसमें बदबू आ रही थी तो लड़के ने पीने से मना कर दिया। इसके बाद उसने उसके हाथ पैर पकड़े और गला दबाकर जबरदस्ती पानी में घुली सल्फास पिलाई। इस वजह से उसके शरीर पर नाखून के निशान भी पड़ गए। वहीं, पास में रखे तकिए से उसका मुंह दबाया। जब वह पूरी तरह बेसुध हो गया तो घर में रखे सोने चांदी के जेवरात सहित 12 हजार लेकर वहां से फरार हो गई।

जब शिक्षक शैलेंद्र नेमा भोपाल से सांची पहुंचे तो वह बाजार में सब्जी लेने के लिए रुक गए। वहीं पत्नी को घर जाने के लिए बोला। पत्नी घर पहुंची तो देखा दरवाजे की कुंडी बाहर से लगी हुई थी जैसे ही वह कुंडी खोलकर अंदर गई तो वहां का नजारा देख घबरा गई। उसने तुरंत अपने पति शैलेंद्र को फोन पर जानकारी देते हुए कहा कि आप जल्दी से घर आ जाओ, शैलेंद्र घर पहुंचा तो बेटा की हालत देख आंखों से आंसू आ गए बेटे की हालत ऐसी हो गई थी जैसे किसी व्यक्ति को लकवा मार जाता है उस अवस्था में बेटा नीचे पड़ा था और पूरा सामान बिखरा था। बेटे को गोद में लेकर पिता ने पूछा क्या हुआ तो बेटे ने पूरा मामला बताया। शिक्षक ने विनायक को सांची अस्पताल में भर्ती कराया। जहां से उसे विदिशा रेफर कर दिया। 1 दिन बाद उसने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।

उसके पिता प्राइवेट शिक्षक हैं और वह बच्चों को कोचिंग पढ़ाते हैं। आरोपी युवती भी उनके यहां अक्टूबर से कक्षा बारहवीं की कोचिंग पढ़ने आई थी। तब से ही उसका घर में आना जाना था बारहवीं का रिजल्ट अच्छा आने पर उसने शिक्षक के घर जाकर खुशी-खुशी बताया था कि रिजल्ट बहुत अच्छा आया है। मैं अच्छे नंबरों से पास हुई है, यह सब आपकी शिक्षा की ही देन है पर इस घटना ने उसके माता-पिता को अंदर तक तोड़ दिया है।

अमृत मीणा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक का कहना है कि चोरी और हत्या करने के आरोप युवती जैनी जोशी को गिरफ्तार कर लिया है। यह युवती 3 माह पहले अपने घर में भी चोरी कर चुकी है। चोरी के जेवरातो को उसके प्रेमी ने 90 हजार में गिरवी रख दिए थे। युवती ने यह अच्छे रहन-सहन के चलते घटना को अंजाम दिया था। यह बात आरोपी युवती ने पूछताछ में बताई है युवती के प्रेमी को जो जेवर उसने दिए थे। वह उसके ही होने की जानकारी उसने दी थी पुलिस ने युवती के प्रेमी से भी पूछताछ कर चुकी है। वहीं इस घटना में युवती पर हत्या का मामला दर्ज कर न्यायालय में पेश किया गया है।