पॉलिटेक्निक की छात्राओं को डिग्री कोर्स में लेटरल एंट्री के आदेश- MP College news

AICTI-
All India Council For Technical Education ने हाल ही में एक आदेश जारी किया है। इसके अनुसार नॉन इंजीनियरिंग डिप्लोमा कर चुकी छात्राएं इस साल से इंजीनियरिंग कॉलेज के सेकंड ईयर में प्रवेश ले सकेंगी।

प्रो. एमपी पूनिया, उपाध्यक्ष एआईसीटीई के अनुसार इस निर्णय को देशभर के सभी इंजीनियरिंग कॉलेजों को भेजकर शैक्षणिक सत्र 2022-23 की प्रवेश प्रक्रिया में इस व्यवस्था को लागू करने के निर्देश दिए गए हैं। इस आदेश के जारी होने के बाद जिन छात्राओं को ग्रेजुएशन में प्रवेश के लिए पहले 12वीं की परीक्षा देनी पड़ती थी। अब उन्हें सीधे बीटेक अथवा बीई सेकंड ईयर में प्रवेश मिल जाएगा।

इससे इंजीनियरिंग डिप्लोमा कॉलेज में पढ़ाई कर रही छात्राओं को सीधा फायदा होगा। एआईसीटीई ने सभी कॉलेजों को भेजें आदेश में आगामी शैक्षणिक सत्र में लिटरल एंट्री के तहत बीई अथवा बीटेक के दूसरे साल में प्रवेश देने दिए जाने के आदेश जारी किए हैं।

इस आदेश के बाद देश भर की महिला पॉलिटेक्निक कॉलेज में पढ़ने वाली छात्राएं जो पहले ग्रेजुएशन तक में प्रवेश नहीं पा सकती थीं। अब उन्हें सीधे बीई और बीटेक के सेकंड ईयर में प्रवेश मिल सकेगा और वह इंजीनियर बन सकेंगी। यानी कि अब यह छात्राएं भी सामान्य पॉलिटेक्निक कॉलेज के पास आउट स्टूडेंट की तरह लेटरल एंट्री सिस्टम के तहत सीधे इंजीनियरिंग के दूसरे साल प्रवेश ले सकेंगी।

एआईसीटीई ने इस संबंध में सभी कॉलेजों को नोटिफिकेशन व आदेश भेजकर अगली प्रवेश प्रक्रिया में यह व्यवस्था लागू करने के निर्देश आदेश दे दिए हैं। गौरतलब है की हर राज्य अपने यहां पर रोजगार के विकल्प को देखते हुए पॉलिटेक्निक में डिप्लोमा कोर्स संचालित करते हैं। उच्च शिक्षा, सरकारी और प्राइवेट नौकरी एवं करियर से जुड़ी खबरों और अपडेट के लिए कृपया MP Career News पर क्लिक करें.