MANIT BHOPAL में रैगिंग, जबरन स्मोकिंग कराते हैं सीनियर्स, क्लास रूम से हॉस्टल तक पीटते है

भोपाल।
 राजधानी भोपाल के MANIT में स्टूडेंट्स के साथ रैगिंग का मामला सामने आया है। । जूनियर्स को क्लास रूम से लेकर हॉस्टल तक में रैगिंग का सामना करना पड़ रहा है। सीनियर्स थप्पड़ मारते हैं, साथ ही उन पर जबरन सिगरेट पीने के लिए भी दबाव बनाया जाता है। जूनियर्स को कैंपस के बाहर रेस्टोरेंट्स और कैफे तक में जाने नहीं देते। इस बारे एंटी रैगिंग कमेटी से शिकायत की गई है।

मैनिट में रैगिंग की ऑनलाइन शिकायत 31 मार्च को की गई। इसमें कहा गया कि फाइनल और थर्ड ईयर के सीनियर्स 1st और 2nd ईयर के जूनियर्स की रोज रैगिंग ले रहे हैं। हर दिन 20 जूनियर्स रैगिंग के शिकार हो रहे हैं। जिसके चलते कुछ जूनियर तो डिप्रेशन की कगार पर पहुंच गए हैं। शिकायत के मुताबिक मैनिट में रैगिंग को लेकर बहुत खराब स्थिति है। थर्ड ईयर के छात्र जूनियर्स को मारते हैं। शिकायत नहीं करने की धमकी देते हैं। 

यह शिकायत बच्चों ने ई-मेल के जरिए की है। सीनियर्स के डर के कारण कोई भी जूनियर सामने नहीं आना चाहता। मैनिट की एंटी रैगिंग कमेटी के चेयरपर्सन सीएम कृष्णा ने कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा कि वे इस संबंध में कुछ भी जानकारी देने के लिए अधिकृत नहीं है। उच्च शिक्षा, सरकारी और प्राइवेट नौकरी एवं करियर से जुड़ी खबरों और अपडेट के लिए कृपया MP Career News पर क्लिक करें.