INDORE NEWS- उर्वशी भाभी को जेल भेजा, पुष्पेंद्र और रूपेंद्र रिमांड पर

इंदौर।
शीतल नगर के रहने वाले कुंवर पुष्पेंद्र सिंह, भाई रूपेंद्र सिंह और उर्वशी भाभी को पुलिस ने गाजियाबाद से गिरफ्तार कर लिया है। कोर्ट ने पुष्पेंद्र और रूपेंद्र को पुलिस रिमांड पर भेज दिया जबकि उर्वशी भाभी को जेल भेज दिया गया है। पुलिस ने बताया कि इनके खिलाफ इंदौर के अलावा ग्वालियर, जबलपुर और धार में 8 मामले दर्ज हैं।

INDORE LOCAL NEWS- केपी सिंह के खिलाफ 10000 का इनाम घोषित था

पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए कुंवर पुष्पेंद्र सिंह, भाई रूपेंद्र सिंह और उर्वशी भाभी पर आरोप है कि उन्होंने आरोग्य रिटेल मेडिसिन कंपनी की फ्रेंचाइजी के नाम पर करोड़ों की ठगी की और फरार हो गए। केपीसिंह पर इसके पहले विजय नगर पुलिस ने केस दर्ज किया था है, जिसमें 10 हजार का इनाम भी घोषित हुआ था। 

MP NEWS- सिंह ब्रदर्स और उर्वशी भाभी के खिलाफ कहां कितने मामले

थाना प्रभारी कमलेश शर्मा के मुताबिक सभी आरोपी 7 महीने से फरार चल रहे थे। तीनों आरोपियों के विरुद्ध जबलपुर जिले के थाना ओमती एवं मदन महल, ग्वालियर के थाना कंपू , इंदौर के थाना विजय नगर, थाना तुकोगंज, लसूड़िया, हीरानगर एवं धार के थाना कोतवाली में 8 केस दर्ज हैं।

INDORE LOCAL NEWS- रेडक्रॉस के सहयोग से आरोग्य मेडिकल मामले में करोड़ों की ठगी हुई

शिकायत में पीड़ितों ने बताया, इनकी आरोग्य दवाइयां नाम से मेडिकल की दुकानें हैं। रेडक्रास सोसायटी के सहयोग से आरोग्य मेडिकल की दुकानें खोली गई थीं, जिसके कारण लोगों ने विश्वास कर लाखों रुपए लगा दिए। आरोपियों ने दवा दुकान की फ्रेंचाइजी व मुनाफे में कमीशन देने के नाम पर लोगों को झांसा दिया। झांसे में आकर लोगों ने स्कीम न. 78 स्थित ऑफिस में जाकर अनुबंध किए और चेक से राशि दी। श्वेता तिवारी ने करीब 25 लाख रुपए दिए। उन्हें स्कीम नं. 78 की दवा दुकान की फ्रेंचाइजी दी गई थी।

तिवारी ने आरोप लगाया कि सात महीने तक तो कमीशन दिया लेकिन फिर बिना किसी कारण के बंद कर दी। कमीशन नहीं दिया, जबकि तिवारी ने यह पैसा लोन लेकर दिया था। इसके अलावा शिकायत करने वाले मोहम्मद अयान से 25 लाख, नेहा जैन से 36 लाख 70 हजार, हुमेर रिजवी से 25 लाख, विनी जाट से एक लाख 5 हजार, राजकुमार मोहनानी से 35 लाख, अनुराग जैन से 50 लाख, रवि अग्रवाल से 35 लाख रुपए आरोग्य रिटेल दवा की दुकानों की फ्रेंचाइजी के नाम पर लिए गए। करीब 2 करोड़ 32 लाख की धोखाधड़ी हुई। इंदौर की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया indore news पर क्लिक करें.