NLIU BHOPAL- प्रो मोहंती की शिकायत मुख्यमंत्री तक पहुंची, DGP को जांच के आदेश

भोपाल।
National Law Institute University, Bhopal के प्रोफेसर तपन रंजन मोहंती की शिकायत सीएम शिवराज सिंह चौहान तक पहुंच गई है। छात्राओं का विरोध प्रदर्शन लगातार जारी है। गुरुवार को प्रोफ़ेसर मोहंती क्या ऑफिस में छात्राओं ने प्रदर्शन किया। इसके बाद प्रोफ़ेसर मोहंती ने अपने अतिरिक्त दायित्वों से इस्तीफा दे दिया। छात्राओं का आरोप है कि प्रोफ़ेसर मोहंती उन्हें आपत्तिजनक मैसेज भेजते हैं। 

BHOPAL TODAY NEWS- मुख्यमंत्री ने NLIU मामले की जांच के आदेश दिए

छात्राओं की तरफ से छात्र नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से शिकायत की। मामले की गंभीरता को देखते हुए मुख्यमंत्री ने जांच के आदेश डीजीपी को दिए। इसके बाद जांच के लिए मामला भोपाल कमिश्नर मकरंद देउस्कर को सौंपा गया। 

NLIU BHOPAL NEWS- डीएसपी निधि सक्सेना ने जांच शुरू की

कमिश्नर के निर्देश पर डीएसपी निधि सक्सेना ने जांच शुरू कर दी है। शुक्रवार दोपहर डीएसपी सक्सेना अपनी टीम के साथ NLIU कैंपस पहुंचीं। यहां छात्राओं के बयान दर्ज किए। हालांकि जांच अधिकारियों ने इस बात का खुलासा नहीं किया कि कितनी छात्राओं ने शिकायत की है।

BHOPAL NEWS LIVE- प्रोफ़ेसर मोहंती के खिलाफ 100 छात्राओं ने शिकायत की है

प्रोफेसर मोहंती 23 साल से पदस्थ हैं। उन पर करीब 100 छात्राओं के साथ यौन शोषण का आरोप है। आरोप है कि ऑफलाइन कक्षाओं के दौरान प्रोफेसर मोहंती अकेले में छात्राओं को बुलाते थे। इसके बाद अश्लील मैसेज और वीडियो छात्राओं को भेजते थे। छात्राओं का दावा है कि उनके पास सबूत के तौर पर वो मैसेज और वीडियो मौजूद है। पीड़ित छात्राओं की शिकायत पर यूनिवर्सिटी प्रबंधन ने मामले में जांच की और प्रोफेसर मोहंती को दोषी मानकर उनसे इस्तीफा मांगा था। साथ ही कानूनी कार्रवाई की बात कही थी। जिसके बाद प्रोफेसर मोहंती ने इस्तीफा दे दिया। जिसे स्वीकार कर लिया गया।

प्रोफ़ेसर मोहंती की प्रतिक्रिया का इंतजार

मोहंती ने हंगामे के बाद केबिन में ही एक इस्तीफा लिखा। उन्होंने डीन, डिस्टेंस एजुकेशन और इंचार्ज अकादमिक ब्लॉक-1 के पद से इस्तीफा दे दिया। मोहंती का फोन बंद होने के कारण उनसे संपर्क नहीं हो पाया।

सीएम शिवराज सिंह ने कहा: छात्र छात्राओं से दुर्व्यवहार सहन नहीं किया जाएगा

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा कि छात्र-छात्राओं से दुर्व्यवहार सहन नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि आवश्यकता होने पर प्रकरण के संबंध में सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश और हाईकोर्ट के न्यायाधीश से भी चर्चा की जाएगी। 

कांग्रेस पार्टी ने न्यायिक जांच की मांग की 

देश कांग्रेस के मीडिया उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता ने मांग की है कि सरकार इस यूनिवर्सिटी के फर्जी डिग्री कांड की जांच के लिए बनाई गई गोहिल समिति की रिपोर्ट सार्वजनिक करे। यौन उत्पीड़न के आरोपों की तत्काल जांच कराये ताकि आरोपी प्रोफेसर जो कि फर्जी डिग्री कांड में भी संशय के दायरे में है त्यागपत्र की आड़ में पुराने पापों से मुक्त ना हो जाए। सरकार किसी सिटिंग जज से तत्काल जांच बैठाये और गोहिल समिति की रिपोर्ट सार्वजनिक करे, ताकि जनता जान सके कि मध्य प्रदेश के शिक्षा संस्थानों में व्यापम का कीड़ा कहां कहां तक घुसा हुआ है। भोपाल की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया bhopal news पर क्लिक करें।