MPPEB TET पेपर आउट मामला- मुख्यमंत्री, अपने अधिकारी पर कार्रवाई करें: कमलनाथ

भोपाल।
मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा वर्ग 3 का पेपर आउट हो जाने के मामले में अपील की है कि मुख्यमंत्री, अपने अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई करें जिसके मोबाइल फोन में पेपर और आंसर शीट के 35 पेज का स्क्रीनशॉट आया था। कांग्रेस पार्टी ने मांग की है कि मुख्यमंत्री सचिवालय के आरोपित उप सचिव का मोबाइल फोन जब करके उसकी फॉरेंसिक जांच कराई जाए।

मध्यप्रदेश में विसलब्लोअर पर FIR, भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने की नीति: कमलनाथ

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष श्री कमलनाथ ने आज जारी बयान में कहा कि आरोपी अधिकारी पर कार्यवाही करने की जगह घोटाले को उजागर करने वाले कांग्रेसी नेता और विसलब्लोअर पर FIR कराई जा रही है। यह सरासर कानून का उल्लंघन है और प्रदेश में भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने की नीति का परिचायक है। यह सीधे-सीधे चोरी और सीनाजोरी का मामला है।

MP व्यापम घोटाला 2022- 35 पेज की आंसर शीट लीक कैसे हुई

यह अत्यंत गंभीर मामला है। मैं मुख्यमंत्री से पूछना चाहता हूं कि मप्र प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा वर्ग-3 यदि ऑनलाइन थी,मोबाइल फ़ोन पूरी तरह वर्जित थे,तो 35 पेज का प्रश्नपत्र, आंसरशीट मोबाइल के स्क्रीनशॉट में लीक कैसे हुई? 

MP NEWS- कृषि अधिकारी परीक्षा घोटाले में किसे दंडित किया गया, कमलनाथ ने पूछा

कमलनाथ ने कहा कि गत वर्ष कृषि विस्तार अधिकारी की परीक्षा में भी अनियमितताओं, भ्रष्टाचार के चलते हुए चयन के प्रामाणिक विरोध के बाद परीक्षा केंसल हुई थी। क्या मुख्यमंत्री जी बताएंगे कि उसमें मुख्य सूत्रधार दंडित हो सके हैं। 

सीएम शिवराज सिंह, दागी अधिकारी को सस्पेंड करें, कांग्रेस पार्टी की मांग

श्री कमलनाथ ने कहा कि व्यापम घोटाले के समय भी मुख्यमंत्री से जुड़े एक प्रमुख अधिकारी का नाम सामने आया था। उस अधिकारी ने जिला कोर्ट भोपाल से अग्रिम जमानत ली थी। लेकिन उसके बाद क्या कार्रवाई हुई? जिस तरह से वर्तमान व्यापम 2 घोटाले में मुख्यमंत्री कार्यालय के अधिकारियों पर ही उंगलियां उठ रही हैं, उसमें सबसे पहली जरूरत यह है कि माननीय मुख्यमंत्री जी दागी कर्मचारी को तत्काल निलंबित करें और मामले की निष्पक्ष जांच करें। 

श्री कमलनाथ ने कहा कि कांग्रेस नेता केके मिश्रा पर लगाए गए तमाम मुकदमे तुरंत हटाए जाएं। उन्होंने जो गंभीर सवाल उठाए हैं, उन पर तुरंत कार्यवाही की जाए और प्रदेश के बेरोजगारों को पारदर्शी तरीके से नौकरियां दी जाएं। मध्य प्रदेश की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया mp news पर क्लिक करें.