JAH GWALIOR से जनता नाराज लेकिन ज्योतिरादित्य सिंधिया संतुष्ट

ग्वालियर।
सबसे बड़े सरकारी अस्पताल जयारोग्य चिकित्सालय में पिछले दिनों जिंदा व्यक्ति को मुर्दा घोषित कर दिया गया। मरीजों के परिजनों के साथ अभद्रता की खबरें आए दिन आती रहती हैं। जनता नाराज है लेकिन केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया सरकारी अस्पताल की व्यवस्थाओं से संतुष्ट नजर आए। 

शुक्रवार सुबह केन्द्रीय नागरिक उड्‌डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने जयारोग्य चिकित्सालय का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान वह कार्डियक विंग में पहुंचे तो यहां के हालात देखकर संतुष्ट नजर आए और यहां मरीजों से भी बात की। सिंधिया बोले कि आने वाले समय में यहां और बेहतर इलाज मिलेगा। जब सिंधिया से जेएएच में लापरवाही से जिंदा मरीजों को मृत बताने वाली घटनाओं पर सवाल किया तो वह टाल गए।

ज्योतिरादित्य सिंधिया JAH ट्रॉमा सेंटर की व्यवस्थाओं से नाराज 

शुक्रवार सुबह कार्डियक यूनिट के निरीक्षण करने के बाद सिंधिया ट्रॉमा सेंटर पहुंचे, जहां सिंधिया को निरीक्षण के दौरान जनरल वार्ड में भर्ती मरीज के परिजन श्वेता ने बताया कि उनकी मां बीते दो दिनों से ट्रॉमा में भर्ती हैं, इलाज तो मुफ्त मिल रहा है, लेकिन मरीज के परिजन को बैठने के लिए न तो स्टूल है और न ही शुद्ध पीने का पानी है, हम गरीब हैं बीस रुपए की पानी की बोतल खरीदकर नहीं पी सकते हैं। सिंधिया ने मौके पर मौजूद GRMC के डीन डॉ. समीर गुप्ता व अधीक्षक डॉ.आरकेएस धाकड़ से नाराजगी जताते हुए तत्काल ट्रॉमा सेंटर में जल्द ही वाटर कूलर शुरू कराने के निर्देश दिए। महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया GWALIOR NEWS पर क्लिक करें.