EPFO NEWS- 68 लाख छोटे प्राइवेट कर्मचारियों को ज्यादा पेंशन की तैयारी

नई दिल्ली।
Employees Provident Fund Organisation द्वारा भारत के प्राइवेट सेक्टर में ₹15000 तक की टोटल सैलरी वाले छोटे कर्मचारियों को ज्यादा पेंशन की तैयारी की जा रही है। ऐसे सभी कर्मचारियों को EPS 95 पेंशन स्कीम के तहत पेंशन दी जाती है। सरकार विचार कर रही है कि इन्हें एक मिनिमम फिक्स पेंशन जरूर दी जाए। 

भारत में ऑर्गेनाइज्ड प्राइवेट सेक्टर में 68 लाख कर्मचारी ऐसे हैं जिनका वेतन ₹15000 महीना से कम है और EPS 95 पेंशन स्कीम के अंतर्गत आते हैं। इनके वेतन में से 8.33 प्रतिशत योगदान EPS 95 पेंशन स्कीम में जमा किया जाता है। इसके कारण इन कर्मचारियों को न्यूनतम ₹1000 और अधिकतम ₹7500 पेंशन बनती है। इसी पेंशन को बढ़ाने की तैयारी की जा रही है। 

दरअसल कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के पास इस प्रकार के कर्मचारियों के वेतन से जमा हुआ 58000 करोड रुपए ऐसा है, जिसे कर्मचारियों द्वारा वापस नहीं लिया गया। यानी कि कर्मचारियों के वेतन से EPF के लिए कटौती तो हुई परंतु नौकरी छोड़ने के बाद कर्मचारी ने EPFO से संपर्क करके अपनी जमा रकम वापस नहीं ली। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ने कई बार सार्वजनिक सूचना जारी करके अपना पैसा निकालने के लिए अपील की परंतु कर्मचारियों की तरफ से कोई रिस्पांस नहीं आया। अब यही पैसा वर्तमान के कर्मचारियों की पेंशन रख बढ़ाने के उपयोग में लिया जाने वाला है। कर्मचारियों से संबंधित महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया MP karmchari news पर क्लिक करें.