कांग्रेस में कमलनाथ के समकक्ष पहुंचे जयवर्धन सिंह, MP की POLITICS का बड़ा घटनाक्रम

भोपाल
। यह मध्य प्रदेश की राजनीति का बड़ा घटनाक्रम है। पिछले दिनों कमलनाथ ने दिग्विजय सिंह को सबके सामने छोटा दिखा दिया था। आज अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी से जारी हुई सूची में दिग्विजय सिंह के युवराज जयवर्धन सिंह, कमलनाथ के समकक्ष नजर आ रहे हैं। 

कांग्रेस में कमलनाथ और जयवर्धन सिंह की बराबरी कैसे

कांग्रेस पार्टी में उम्र और अनुभव का अपना महत्व है परंतु पिछले 1 साल में कुछ ऐसे घटनाक्रम हुए हैं जबकि हाईकमान ने अनुभव की तुलना में उत्साह को महत्व दिया है। ज्योतिरादित्य सिंधिया के पार्टी छोड़ जाने के बाद, युवा नेताओं को महत्व मिलने लगा है। उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में स्टार प्रचारकों की सूची जारी हुई है। इस लिस्ट में मध्य प्रदेश से सिर्फ दो नेताओं के नाम है, कमलनाथ और जयवर्धन सिंह। यानी कि हाईकमान की नजर में मध्यप्रदेश में यह दोनों नेता समकक्ष हैं। 

दिग्विजय सिंह को ऐसे ही चाणक्य नहीं कहते 

कांग्रेस पार्टी में दिग्विजय सिंह को ऐसे ही चाणक्य नहीं कहते। कुछ दिनों पहले कमलनाथ ने सबके सामने दिग्विजय सिंह को छोटा साबित किया था। भले ही, उम्र और अनुभव में कमलनाथ, दिग्विजय सिंह से बड़े हो लेकिन मध्यप्रदेश की राजनीति के हिसाब से दिग्विजय सिंह का अनुभव ज्यादा है। फिर भी उन्हें अपमानित किया गया। दिग्विजय सिंह ने उस अपमान का जवाब इस प्रकार से दिया है। आज वह नहीं बल्कि उनका बेटा कमलनाथ के समकक्ष दिखाई दे रहा है। 

कांग्रेस पार्टी में हवाएं बदल रही हैं 

राहुल गांधी के इस्तीफे और ज्योतिरादित्य सिंधिया के पार्टी बदलने के बाद दिल्ली में भी काफी कुछ बदल गया है। प्रियंका गांधी, युवा नेताओं के हितों की रक्षा कर रही हैं और कुछ राष्ट्रीय स्तर के बड़े घटनाक्रमों में प्रियंका गांधी का फैसला अंतिम फैसला माना गया। कुल मिलाकर कांग्रेस पार्टी में हवाएं बदल रही हैं। बारात में एक बुजुर्ग को शामिल किया जा रहा है लेकिन बुजुर्गों की बारात निकलना बंद हो गई है। ✒ उपदेश अवस्थी
मध्य प्रदेश की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया mp news पर क्लिक करें.