MP NEWS- रीवा के रजिस्ट्रार ऑफिस में रिश्वतखोरी, लोकायुक्त ने स्टेनो को पकड़ा

रीवा।
रीवा के रजिस्ट्री ऑफिस में खुलेआम रिश्वतखोरी चल रही थी। लोकायुक्त पुलिस ने रजिस्ट्रार के स्टेनो को ₹12000 रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। लोकायुक्त पुलिस ने दावा किया है कि प्रॉपर्टी की रजिस्ट्री के लिए स्लॉट बुकिंग के दौरान फंस गए 1.20 लाख रुपए वापस करने के बदले रिश्वत मांगी गई थी। जबकि ऐसा सरकारी सिस्टम की गड़बड़ी से हुआ है और रजिस्टार ऑफिस को उपभोक्ता से माफी मांगनी चाहिए थी।

धीरेन्द्र सिंह तोमर स्टेनो रजिस्ट्री कार्यालय गिरफ्तार

लोकायुक्त एसपी गोपाल सिंह धाकड़ ने बताया कि शुक्रवार की दोपहर 12.30 बजे धीरेन्द्र सिंह तोमर स्टेनो रजिस्ट्री कार्यालय रीवा को 12 हजार रुपये की रिश्वत लेते हुए पकड़ा गया है। उसके खिलाफ शिकायतकर्ता दीपक पाण्डेय पिता कृपा शंकर पांडे 35 वर्ष निवासी गुलाब नगर रीवा ने कुछ दिन पहले रीवा लोकायुक्त एसपी कार्यालय पहुंचकर आवेदन दिया था।

जून 2021 से पैसा अटका हुआ था

पीड़ित का आरोप है कि जून 2021 में मैने अपनी मां सरोज पाण्डेय और मौसी शकुंतला पाण्डेय के नाम पर रजिस्ट्री कराने के लिए स्लॉट बुक कराया था, लेकिन किसी कारण से रजिस्ट्री नहीं हो पाई। ऐसे में ऑनलाइन पेमेंट किया गया अपना 1.20 लाख रुपये वापस पाने के लिए रजिस्ट्री कार्यालय का चक्कर लगा रहा था। 

डीआर ने स्टेनो से मिलने के लिए बोला था

तब डीआर ने स्टेनो से मिलने के लिए बोला। स्टेनो से मुलाकात करने का मुझसे रुपयों की मांग की गई। जिसकी शिकायत मैंने लोकायुक्त कार्यालय में दर्ज कराई थी। सत्यापन उक्त शिकायत सही पाए जाने पर शुक्रवार को ट्रैपिंग के लिए डीएसपी प्रवीण सिंह परिहार के मार्गदर्शन में निरीक्षक जियाउल हक के नेतृत्व वाली 20 सदस्यीय टीम भेजी थी। उक्ति पर कार्रवाई की गई है।

रजिस्टार ऑफिस में खुलेआम रिश्वत की जा रही थी

लोकायुक्त एसपी ने बताया कि पीड़ित ने स्लॉट के रिटेंशन के लिए आवेदन किया था, जहां डीआर 6 हजार रुपए, 4 हजार स्टेनो और 2 हजार रुपये क्लर्क के नाम पर रकम मांग रहा था। शिकायतकर्ता 12 हजार रुपये लेकर कार्यालय पहुंचा। जैसे ही आरोपित धीरेन्द्र सिंह तोमर को रिश्वत के 12 हजार रुपये दिए। वैसे ही स्टेनो काउंटर में रख लिया। इसी बीच पीड़ित का इशारा मिलते ही लोकायुक्त ने रंगे हाथ पकड़ लिया।

डिस्ट्रिक्ट रजिस्ट्रार की भूमिका की जांच होगी

लोकायुक्त एसपी ने बताया है कि आरोपित स्टेनो के बयान दर्ज किए जा रहे हैं बयान में जो तथ्य सामने आएंगे उस अनुसार कार्रवाई की जाएगी। हालांकि डिस्ट्रिक रजिस्टार की भूमिका की भी जांच की जाएगी।

स्टेनो को पकड़ा गया है जिसके विरुद्ध भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला पंजीकृत किया गया है जबकि डिस्ट्रिक रजिस्टार की भूमिका की जांच की जा रही है।
- गोपाल धाकड़ एसपी लोकायुक्त रीवा मध्य प्रदेश की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया mp news पर क्लिक करें.