फोर्ड मोटर्स- भारत में रहना चाहती है, पहले छोड़ने की धमकी दी थी - latest business news

Ford Motor Company ने कुछ महीनों पहले भारत से अपना कारोबार समेटने और भारत छोड़कर जाने की धमकी दी थी लेकिन अब भारत में रहना चाहती है। पीएलआई स्कीम (PLI Scheme) के तहत फोर्ड मोटर्स ने भारत में रहने का निवेदन किया था। कंपनी की तरफ से बताया गया है कि सरकार ने उनका निवेदन स्वीकार कर लिया है। 

लग्जरी कारों की दुनिया में फोर्ड मोटर्स एक अच्छा ब्रांड है। अमेरिका की इस कंपनी पर भारत में लोग काफी भरोसा करते हैं, लेकिन पॉलिटिक्स में दखल अंदाजी इस कंपनी का इतिहास रहा है। कुछ महीनों पहले फोर्ड कंपनी ने भारत की नीतियों से नाराज होकर भारत में अपना कारोबार बंद करने का ऐलान किया था। शायद यह सरकार पर दबाव बनाने के लिए उसकी एक स्ट्रेटजी थी। जब बात नहीं बनी तो पीएलआई स्कीम (PLI Scheme) के तहत निवेदन कर दिया। ताकि दरवाजे बंद ना हों। 

फोर्ड मोटर ने क्लीन फ्यूल व्हीकल्स के लिए 3.5 अरब डॉलर की स्कीम के तहत इनसेंटिव्स के खातिर अप्लाई किया था। कंपनी ने एक बयान में कहा है कि उसके प्रपोजल को सरकार की मंजूरी मिल गई है। फोर्ड के भारत में दो कार प्लांट हैं। कंपनी ने शुक्रवार को एक बयान में कहा है कि वह भारत में अपने एक प्लांट को इलेक्ट्रिक व्हीकल मैन्युफैक्चरिंग के एक्सपोर्ट बेस के रूप में इस्तेमाल करने की संभावना पर विचार कर रही है।

फोर्ड ने जब भारत में अपना प्रॉडक्शन बंद किया था, तब इंडियन पैसेंजर व्हीकल मार्केट में उसकी हिस्सेदारी 2 फीसदी से कम थी। भारत की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया india national news पर क्लिक करें.