छाती में कफ, सफेद बाल सहित 12 बीमारियों का घरेलू इलाज- Home remedies in Hindi

यदि कोई छाती में कफ, सफेद बाल, डायबिटीज, पेट खराब, मोटापा, मुंह में छाले, आयरन अथवा कैल्शियम की कमी, बार बार उल्टी आना और डायबिटीज जैसी बीमारियों से परेशान हैं, या फिर वजन कम करना चाहता है तो सबसे सस्ता और सरल घरेलू उपाय है, करी पत्ता। 

करी पत्ता बड़ी ही आसानी से बाजार में मिल जाता है। भारत के सामान्य रसोई घरों में नियमित रूप से प्रयोग में लाया जाता है। यदि कोई विधि के अनुसार करी पत्ता का उपयोग करता है तो वह, उस उपरोक्त बीमारी से मुक्त हो सकता है जिसके लिए महंगी दवाइयों पर काफी पैसा खर्च होता है और मनचाहे रिजल्ट भी नहीं मिलते। करी पत्ता बाजार में अधिकतम ₹250 प्रति किलो के भाव से मिल जाता है। एक व्यक्ति को 1 दिन में 5 ग्राम से ज्यादा करी पत्ते की जरूरत नहीं होती। यानी कि इससे सस्ता कुछ भी नहीं हो सकता। 

करी पत्ता के उपयोग एवं फायदे 

1. पेट संबंधी रोगों में करी पत्तों का इस्तेमाल फायदेमंद होता है। इसके लिए इसे दाल मे तड़का लगाते समय या साउथ इंडियन फूड बनाते समय भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
2. भोजन में करी पत्ते के प्रयोग से पाचन क्रिया भी दुरूस्त रहती है।
3. करी पत्ता मोटापे की समस्या को दूर करता है। रोजाना इन पत्तों को चबाने से वजन कम होता है।
4. मुंह में छाले और सिरदर्द की समस्या में ताजा करी पत्तों को चबाने से लाभ होता है।
5. करी पत्ते में आयरन, कैल्शियम और फॉस्फोरस भरपूर मात्रा में होता है जिससे इन्हें प्रयोग करने से बाल सफेद नहीं होते।
6. यह सीने से कफ को बाहर निकालता है। लाभ के लिए एक चम्मच शहद को एक चम्मच करी पत्ते के रस में मिलाकर प्रयोग करें।
7. कुछ करी पत्तों को पीसकर इसमें नींबू की कुछ बूंदे और थोड़ी चीनी मिलाकर खाने से उल्टी की तकलीफ में राहत मिलती है
8. नियमित रूप से इन पत्तों का प्रयोग डायबीटिज के रोगियों के लिए भी फायदेमंद है। 
स्वास्थ्य से संबंधित समाचार एवं जानकारियों के लिए कृपया Health Update पर क्लिक करें