मध्यप्रदेश में अतिथि विद्वानों का वेतन बढ़ा, कैबिनेट में मंजूर - MP karmchari news

मध्यप्रदेश में तकनीकी शिक्षा से संबंधित अतिथि विद्वानों का वेतन बढ़ा दिया गया है। पिछले 15 सालों से अतिथि विद्वान वेतन वृद्धि की मांग कर रहे थे। शिवराज सिंह चौहान सरकार की कैबिनेट मीटिंग में वेतन वृद्धि को मंजूरी दे दी गई। अब अतिथि विद्वान का न्यूनतम वेतन ₹30000 प्रतिमाह रहेगा। इससे पहले अधिकतम वेतन ₹22000 था। 

प्रांतीय तकनीकी अतिथि एवं संविदा प्राध्यापक महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष देवांश जैन ने बताया कि तकनीकी शिक्षा कौशल विकास एंव रोजगार मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने इसके निर्देश दे दिए हैं। उन्होंने इसे सोशल मीडिया पर पोस्ट भी किया है। देवांश ने बताया कि 5 ऑटोनोमस इंजीनियरिंग कॉलेज एवं 67 ऑटोनोमस शासकीय पॉलिटेक्निक कॉलेज के करीब 700 से ज्यादा अतिथि विद्वानों को फायदा फायदा होगा। 

यह सत्र 2022-23 से दिए जाएंगे। इसका निर्णय मंगलवार को कैबिनेट में लिया गया। कैबिनेट मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने बताया कि स्वशासी  इंजीनियरिंग महाविद्यालय एवं स्वशासी शासकीय पॉलिटेक्निक महाविद्यालय में अतिथि व्याख्याताओं को अधिकतम रु 30000 मासिक मानदेय सत्र 22 -23 से दिए जाने का कैबिनेट में निर्णय। वर्ष 2004-05 से चली आ रही अतिथि व्याख्याता आमंत्रित किए जाने की व्यवस्था समाप्त होगी। मध्यप्रदेश कर्मचारियों से संबंधित महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया MP karmchari news पर क्लिक करें.