ज्योतिरादित्य सिंधिया की भाजपा में खुली खिलाफत शुरू - GWALIOR NEWS

ग्वालियर।
ग्वालियर चंबल संभाग में एक बार फिर जयविलास पैलेस (ग्वालियर महल) सत्ता का केंद्र बन गया है और एक बार फिर महल के विरुद्ध भाजपा में खुली खिलाफत शुरू हो गई है। 80-90 के दशक में सरदार आंग्रे के कारण राजमाता विजयाराजे की खिलाफत होती थी, 21वीं सदी में ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक नेताओं की लंबी लिस्ट है।

अबकी बार सिंधिया सरकार वाले यादव को संगठन की जनता

किसी जमाने में अपने गांव की दीवारों पर 'अबकी बार सिंधिया सरकार' के नारे लिखवाने वाले कृष्ण पाल सिंह यादव ने सांसद बनने के बाद भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को पत्र लिखकर बताया है कि भाजपा में संगठन के बजाय व्यक्ति के प्रति निष्ठा बढ़ती जा रही है जो संगठन के लिए हानिकारक हो सकती है। सांसद केपी यादव, ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थकों द्वारा दी जा रही प्रताड़ना से तंग आ गए हैं।

भाजपा सांसद को प्रताड़ित कर रहे हैं संध्या समर्थक

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष को लिखी चिट्ठी को सार्वजनिक किया गया ताकि मामला सुर्खियों में आ जाए। सांसद केपी सिंह यादव ने खुलकर बताया है कि माननीय संसद का सदस्य होने के बावजूद उन्हें संगठन और प्रशासन में कोई महत्व नहीं दिया जा रहा है। सिंधिया समर्थकों ने पूरी व्यवस्था पर मजबूत पकड़ बना ली है। यहां तक कि सरकारी कार्यक्रमों में भी उन्हें आमंत्रित तक नहीं किया जाता। ग्वालियर की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया GWALIOR NEWS पर क्लिक करें.