खिलौनों से खेल रहे मुख्यमंत्री से चयनित शिक्षकों ने कहा, जिंदगी से मत खेलिए प्लीज - MP NEWS

भोपाल।
शनिवार भाई दूज के अवसर पर निज निवास ग्राम जैत जिला-सीहोर पहुंचकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जन समस्याएं सुनीं इसी दौरान शिक्षक पात्रता परीक्षा उत्तीर्ण अभ्यर्थियों ने भी शिक्षकों के रिक्त पदों में वृद्धि के लिए ज्ञापन पत्र सौंपा। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री यहां टॉय फेस्टिवल में आए थे। इस दौरान उन्होंने बच्चों के साथ कुछ गेम्स में पार्टिसिपेट भी किया। पात्र अभ्यर्थी लगातार कई दिनों से मुख्यमंत्री एवं शिक्षा मंत्री को पदवृद्धि के लिए ज्ञापन पत्र सौंप रहे हैं। 

10 वर्ष बाद हो रही शिक्षक भर्ती में प्रदेश सरकार द्वारा स्कूल शिक्षा एवं जनजातीय दोनों विभागों से नाम मात्र के पदों पर स्थाई शिक्षकों की भर्ती की जा रही है। जबकि प्रदेश में लगभग 91,000 शिक्षकों की कमी है। पात्रता परीक्षा उत्तीर्ण अभ्यर्थियों ने मुख्यमंत्री को ज्ञापन पत्र सौंप कर समस्त रिक्त पदो पर स्थाई शिक्षक भर्ती की मांग की है। 

शिक्षा विभाग द्वारा माध्यमिक शिक्षक भर्ती में कुल 5,670 पदों पर भर्ती की जा रही है जिसमें विज्ञान के मात्र 50, सामाजिक विज्ञान के 60 उर्दू के 18, हिंदी के 100,संस्कृत के 772 ,गणित के 1,312 व अंग्रेजी के 3,358 पदों पर भर्ती की जा रही है जिससे पात्र अभ्यर्थियों में आक्रोश अधिक दिखाई दे रहा है।   पिछले सप्ताह भी 31 अक्टूबर को राजधानी भोपाल में 'राष्ट्रीय एकता दिवस' के अवसर पर शौर्य स्मारक परिसर में मुख्यमंत्री को पात्र अभ्यर्थियों द्वारा ज्ञापन पत्र सौंपा गया था। 

पात्रता परीक्षा में उत्तीर्ण अभ्यार्थियों ने आरोप लगाते हुए कहा है कि शिक्षक भर्ती में बहुत कम मात्रा में रिक्त पद दर्शाये गये हैं जबकि प्रत्येक विषय के हजारों पद रिक्त हैं जिन पर अतिथि शिक्षकों से अध्यापन कार्य कराया जा रहा है पात्र अभ्यार्थियों ने कहा है कि प्रदेश सरकार द्वारा शिक्षित युवाओं के साथ शिक्षक भर्ती के नाम पर छलावा किया जा रहा है। एक तरफ जहां केंद्र सरकार राष्ट्रीय शिक्षा नीति को लागू कर रही है वहीं दूसरी और प्रदेश सरकार शासकीय स्कूलों में अतिथि शिक्षकों से काम चला रही है। 

ज्ञापन पत्र सौंपने वालों में प्रमुख रूप से रंजीत गौर,रितेश कुमार,सुशील कुशवाहा,जितेन्द्र,संदीप कुमार आदि सदस्य उपस्थित रहे। मध्य प्रदेश की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया MP NEWS पर क्लिक करें. 


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here