अंतरजातीय विवाह के कारण लड़की के शुद्धिकरण के नाम पर यह कैसी परंपरा - MP NEWS

होशंगाबाद
। अंतर्जातीय विवाह की स्थिति में लड़की के शुद्धिकरण की अजीब सी परंपरा सामने आई है। यह घटना होशंगाबाद के सेठानी घाट पर घटी। लड़की वाले बेतूल जिले के छुपाना थाना क्षेत्र के रहने वाले हैं। 

कुप्रथा- अंतरजातीय विवाह करने वाली लड़की का शुद्धिकरण किया जाता है

लोगों ने बताया कि सेठानी घाट पर लड़की के साथ उसके परिवार के कुछ लोग आए। उन्होंने लड़की का आंचल हटाकर नर्मदा जल से स्नान कराया। फिर उसे जूठी पूड़ी खिलाई गई और उसकी चोटी के बाल काट दिए गए। पूरी प्रक्रिया के दौरान लड़की लगातार विरोध कर रही थी, और परिवार के लोग उसके साथ मारपीट करते हुए, उसे जबरदस्ती काबू कर रहे थे। बताया गया कि यह उनकी एक प्रथा है। लड़की ने अंतरजातीय विवाह किया है इसलिए उसका शुद्धिकरण किया जा रहा है।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि लड़की ने अंतरजातीय प्रेम विवाह किया है। जिस लड़के के साथ उसने आर्य समाज मंदिर में शादी की है, इस परिवार के लोग उसे निम्न मानते हैं। शादी के बाद लड़की राजगढ़ जिले में नर्सिंग की ट्रेनिंग कर रही थी। उसी समय उसके परिवार के लोगों से वहां से लेकर सीधे होशंगाबाद में सेठानी घाट पर लाए और इस प्रथा का पालन किया। पुलिस ने बताया कि शिकायत प्राप्त हो गई है। जल्द ही आवश्यक कानूनी कार्रवाई की जाएगी।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here