CM RISE SCHOOL- शिक्षकों के चयन हेतु मुख्यमंत्री ने दिशा निर्देश दिए

भोपाल
। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि सीएम राइज स्कूल एक महत्वाकांक्षी योजना है। इसके क्रियान्वयन के लिए योग्य शिक्षकों का चयन किया जा रहा है। शिक्षा की गुणवत्ता को ध्यान में रखते हुए शिक्षक प्रशिक्षण का कार्य भी पूरी गंभीरता से किया जाए। प्रथम चरण में प्रदेश में अप्रैल 2022 से प्रारंभ होने वाले शिक्षण-सत्र में कक्षा एक से 12वीं तक शिक्षण व्यवस्था वाले 350 सीएम राइज स्कूल प्रारंभ होंगे। 

इसके लिए आवश्यक बजट व्यवस्था भी कर ली गई है। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज सीएम राइज स्कूल योजना के अंतर्गत प्रारंभ की गई गतिविधियों की समीक्षा कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने योजना से संबंधित विशेषताओं पर भी चर्चा की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने विद्यालयों के प्राचार्यों के लिए तैयार की गई हैंड बुक का विमोचन किया। बैठक में मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान जाएँगे रशीदिया विद्यालय का मॉडल देखने

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जिन स्कूलों में लैब, कम्प्यूटर और लायब्रेरी की व्यवस्था की जा चुकी है, वहाँ अप्रैल 2022 से सीएम राइज स्कूल प्रारंभ किये जाएँगे। इस क्रम में भोपाल के रशीदिया विद्यालय को मॉडल सीएम राइज स्कूल के रूप में विकसित किया गया है। मुख्यमंत्री श्री चौहान शीघ्र ही इसका अवलोकन भी करेंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि शिक्षकों के प्रशिक्षण और भवनों के निर्माण तथा अन्य व्यवस्थाओं को समय पर पूरा किया जाए। आगामी शिक्षण-सत्र से विद्यालयों के प्रारंभ होने का कार्य शुरू हो जाएगा। लक्ष्य यह हो कि दो वर्ष में सभी विद्यालय प्रांरभ हो जाएँ।

प्राचार्यों को दिया जाएगा विशेष दक्षता प्रशिक्षण

प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा श्रीमती रश्मि अरूण शमी ने बताया कि सीएम राइज स्कूल योजना में 22 हजार 254 शिक्षकों के आवेदन पत्र प्राप्त हुए हैं। उत्कृष्ट शिक्षा के लिए विभिन्न पुरस्कारों से सम्मानित शिक्षकों का साक्षात्कार आयोजित कर चयन किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि प्रदेश में 9 हजार 200 सुविधायुक्त सीएम राइज स्कूल प्रारंभ किए जाने हैं। प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में 25-30 किलोमीटर परिधि में इनकी व्यवस्था होगी। इन स्कूलों में एक ही शिक्षण परिसर में केजी से लेकर 12वीं तक की कक्षाओं के बच्चे पढ़ेंगे। 

सीएम राइज स्कूल के प्राचार्यों को स्कूल विकास के नेतृत्व, अनुकरणीय शिक्षण अधिगम प्रक्रियाओं के नेतृत्व, शिक्षकों के विकास और सशक्तिकरण, समुदाय से जुड़ाव और प्रशासनिक प्रक्रियाओं तथा संसाधनों के प्रबंधन की दृष्टि से दक्ष बनाया जाएगा। प्राचार्य प्रशिक्षण नवम्बर माह से प्रारंभ होगा। इसके बाद राजधानी में इनका राज्य स्तरीय ओरिएंटेशन और भारतीय प्रबंध संस्थान में प्रशिक्षण भी होगा। यही नहीं इन प्राचार्यों को अन्य राज्य के स्कूलों का भ्रमण भी करवाया जाएगा। 

प्रमुख सचिव जनजातीय कार्य श्रीमती पल्लवी जैन गोविल ने जनजातीय क्षेत्रों में भी सीएम राइज स्कूल खोले जाने के संबंध में प्रचलित कार्यवाही की जानकारी दी। बैठक में आयुक्त जनसंपर्क डॉ. सुदाम खाड़े, आयुक्त जनजातीय कार्य श्री संजीव सिंह, उप सचिव स्कूल शिक्षा श्रीमती अनुभा श्रीवास्तव, संचालक राज्य शिक्षा केन्द्र श्री धनराजू एस. और संचालक लोक शिक्षण श्री डी.एस. कुशवाह उपस्थित थे।

11 अक्टूबर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा के लिए आवेदन करने का लास्ट चांस - ctet 2021 application last date
प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र खोलिए, आवेदन आमंत्रित, ₹50000 मासिक की कमाई - startup ideas
MP NEWS- 40% शासकीय कर्मचारी मेंटली डिस्टर्ब, VRS दिया जा सकता है
GWALIOR NEWS- नरेंद्र तोमर के लिए खतरा बन गए ज्योतिरादित्य सिंधिया
MPMSU JABALPUR RESULT- रजिस्ट्रार का बयान पढ़िए
केमिस्ट्री वालों के लिए सरकारी नौकरियां, सैलरी 1.40 लाख प्रतिमाह
मध्य प्रदेश शिक्षक भर्ती- अंतिम चयन सूची जारी, 12043 उम्मीदवारों के नाम यहां पढ़ें
MP COLLEGE ADMISSION- कॉलेज लेवल काउंसलिंग स्थगन की सूचना
मध्य प्रदेश शिक्षक भर्ती- DPI में चयनित उम्मीदवारों का हंगामा
Small business ideas- आधार सेवा केंद्र खोलने के लिए अभी आवेदन करें
मध्यप्रदेश में सरकारी नौकरी के लिए 115756 पद खाली- MP ROJGAR SAMACHAR

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindiअंडा तो बंद होता है फिर चूजे को ऑक्सीजन कहां से मिलती है, जिंदा कैसे रहता है
GK in Hindi- फाइल दबाने वाले अधिकारियों से काम कराने का कानूनी तरीका
GK in Hindiहजारों टन सोने से भरा उल्का पिंड पृथ्वी से कब टकराएगा
GK in Hindiसमुद्र से 125 मीटर नीचे एक देश, जहां नालों में ज्वालामुखी का लावा बहता है
GK in Hindi- 3 प्रकार के विवाह, जिसमें लड़की को पत्नी का कानूनी अधिकार नहीं मिलता है 
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here