RAIL SAMACHAR- पर्यटकों के लिए स्पेशल कोच, छत भी कांच की है

भारतीय रेल ने पर्यटकों को यात्रा के दौरान प्रकृति का पूरा आनंद लेने के लिए विशेष कोच तैयार किए हैं। इन्हें विस्‍टाडोम कोच नाम दिया गया है। एक कोच में 83 बर्थ बनाई गई है लेकिन अभी तक इसका किराया फिक्स नहीं किया गया है। भारत के लगभग हर राज्य में प्रसिद्ध पर्यटक स्थल तक जाने के लिए ट्रेनों में इस स्पेशल कोच का उपयोग किया जाएगा।

विस्‍टाडोम कोच की खास बातें

यह कोच पर्यटकों के लिए तैयार किया गया है। विस्‍टाडोम कोच की सबसे बड़ी खासियत है कि यात्री ट्रेन के अंदर बैठे ही बाहर के नजारे देख सकते हैं। इसकी खिड़की के कांच अन्य एसी कोच से ज्यादा बड़े होंगे। इन कोच की छत भी शीशे की होगी। यात्री अपनी सीट पर बैठकर आसमान देख सकते हैं। बिना भीगे बारिश का आनंद ले सकते हैं। बताया जा रहा है कि रेलवे लगभग हर राज्‍य में ऐसी कम से कम एक ऐसी ट्रेन चलाएगा। फिलहाल ये विस्‍टाडोम कोच मुंबई के दादर से लेकर गोवा के मडगावं तक चलती है।

विस्‍टाडोम कोच में बर्थ के लिए टिकट की बुकिंग कैसे होगी 

यात्रियों को इस कैटेगरी के कोच का कोर्ट याद रखना होगा। इन सभी कैटेगरी के कोच व सीटों के कोड के बारे में सभी जोन के प्रिंसिपल चीफ कॉमर्शियल मैनेजर्स को नोटिफाई किया जा चुका है। इसके तहत थर्ड एसी क्‍लास इकोनॉमी कोच का बुकिंग कोड 3E होगा और कोच का कोड M होगा। इसी प्रकार विस्‍टडोम एसी कोच का कोड EV रखा गया है।

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindiदुबई के सभी शेख अमीर क्यों होते हैं, कोई कंगाल क्यों नहीं होता
GK in Hindiकुत्ते कार का पीछा क्यों करते हैं, क्या वह कार चोरी की होती है, पढ़िए 4 कारण
GK in Hindiशराब में आग क्यों लगती है, पानी में क्यों नहीं लगती, सरल हिंदी में समझिए 
GK in Hindiअंधेरा होने पर भी मच्छरों को हमारी लोकेशन कैसे मिल जाती है 
GK in Hindi- वह कौन सी संख्या है जिसे रोमन में नहीं लिखा जा सकता
GK in Hindiरानियों के रेशमी वस्त्र किससे धुलते थे, वाशिंग पाउडर तो था नहीं
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here