INDORE NEWS- लॉकडाउन में कंगाल हुए दुकानदार ने सुसाइड कर लिया

इंदौर
। लॉकडाउन के दौरान कंगाल हो गए एक स्टेशनरी व्यापारी ने जहर खाकर आत्महत्या कर ली। सुसाइड करने से पहले उसने पूरे परिवार से विदाई ले ली थी लेकिन परिवार के लोग समझ नहीं पाए। वह काफी दिनों से परेशान था। उसने अपने दोस्तों से भी परेशानियां शेयर की थी। कोई समाधान नहीं मिल रहा था। सुसाइड नोट में उसने आत्महत्या का कारण स्पष्ट किया है।

पंकज मिलनसार था, सबकी मदद करता था

गांधीनगर पुलिस थाने से मिली जानकारी के अनुसार स्टेशनरी की दुकानदार पंकज नाचन का शव बुधवार को मिला था। पुलिस को दो सुसाइड नोट भी मिले हैं। पंकज ने बताया है कि लॉकडाउन के दौरान वह पूरी तरह कंगाल हो गया था। परिजनों का कहना है कि पंकज काफी मिलनसार व्यापारी था। उसने कई लोगों को दुकान खोलने में मदद की थी। लॉकडाउन के दौरान भी उसने कई लोगों की मदद की थी। 

सुसाइड नोट में क्या लिखा है 

पंकज ने दो सुसाइड नोट छोड़े। पहले में अपनी बेटी को डॉक्टर या इंजीनियर बनाने का सपना लिखा है और दूसरे सुसाइड नोट में लिखा है कि मेरी पत्नी, बच्ची और माता-पिता को परेशान न किया जाए। मैं अपनी खुशी से मरने जा रहा हूं, हालांकि यह मेरे जीवन की बहुत बड़ी गलती है। मुझे माफ किया जाए। मैं लॉकडाउन के दौरान कर्ज में डूब गया। लोगों का बहुत पैसा देना है। जिंदगी से हार गया हूं।

सुबह ही परिवार में सब से विदाई ले ली थी

परिवार के अनुसार, 17 अगस्त मंगलवार को सुबह पंकज की पत्नी तीन साल की बेटी के साथ गणेश मंदिर जाने वाली थी। इससे पहले पंकज ने बच्ची के सिर पर हाथ फेरा। मां शकुंतला और पिता राजेंद्र के पैर भी छुए। पत्नी ज्योति ने बताया कि पहली बार मुझे पांच हजार रुपए देकर कहा कि रख ले काम आएंगे। मैं मंदिर चली गई और पंकज काम पर चले गए। देर रात तक वे घर नहीं लौटे तो हमने एमजी रोड थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दी। रात को पंकज को पुलिस और परिजन ने पंकज की तलाश की लेकिन वे नहीं मिले। बुधवार सुबह पुलिस ने सूचना दी कि गांधीनगर इलाके के खेत में उनकी लाश मिली है।

लोगों से उधार लेकर स्टेशनरी की दुकान खोली थी

पंकज के दोस्त नितिन ने बताया कि तीन साल पहले तक पंकज खजूरी बाजार में एक दुकान पर नौकरी करता था। इसके बाद दोस्तों और परिचितों से करीब दो लाख रुपए लेकर स्टेशनरी की दुकान खोली थी। लॉकडाउन के दौरान कारोबार ठप हो जाने के कारण पंकज काफी तनाव में आ गया था। उसे कोई रास्ता समझ में नहीं आ रहा था।

19 अगस्त को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

MP OUTSOURCE EMPLOYEE NEWS- अनुभवी आउटसोर्स कर्मचारी को हटाकर नई अस्थाई भर्ती नहीं कर सकते: हाई कोर्ट 
MP Sports Talent Search 2021- ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म एवं पूरी जानकारी
मध्य प्रदेश में सोयबीन के अमानक बीज उत्पादन हो रहा है, कृपया रोकिए - Khula Khat
BHOPAL NEWS- राजधानी में बेरोजगारों पर लाठीचार्ज, घसीट कर ले गए और जंगल में छोड़ दिया
MP EMPLOYEE NEWS- आउटसोर्स व्यवसायिक शिक्षकों की सेवा समाप्ति का आदेश हाई कोर्ट ने स्थगित किया
MP NEWS- मध्यप्रदेश में चयनित शिक्षिकाओं ने उठक-बैठक लगाई, दंडवत किया
MP EMPLOYEE NEWS- प्रतिनियुक्त शिक्षकों की कार्यमुक्ति पर रोक लगी, डीपीआई कमिश्नर का आदेश जारी 
JABALPUR NEWS- सरपंच भरत गुप्ता और रोजगार सहायक गिरफ्तार
GWALIOR NEWS- पत्रकार से रिश्वत वसूल रहा बाबू गिरफ्तार
BHOPAL NEWS- मोहर्रम के जुलूस पर प्रतिबंध, गणेशोत्सव पर शर्तें लागू
BHOPAL NEWS- गैर कानूनी गिरफ्तारी मामले में 3 पुलिस आरक्षक जेल भेजे, ASP पेश नहीं हुए

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindiमिनरल वाटर एक्सपायर नहीं होता, तो फिर बोतल पर एक्सपायरी डेट क्यों होती है
GK in Hindiभारत का सबसे पहला गांव कौन सा है, जहां मनुष्य, बंदर से इंसान बना
GK in Hindiइमरजेंसी में कार लॉक हो जाए तो जान बचाने के लिए क्या करें
GK in Hindi- चंद्रमा को मामा क्यों कहते हैं, पढ़िए वैज्ञानिक कारण
GK in Hindiकार का साइलेंसर पीछे, ट्रक का साइड में और ट्रैक्टर का सामने क्यों होता है
GK in Hindiअंग्रेजी के अक्षरों में i और j के ऊपर बिंदी क्यों लगाई जाती है
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here