e-RUPI क्या है, कैसे काम करता है

ई-रुपी (e-RUPI) एक डिजिटल पेमेंट सॉल्यूशन है। इसके लिए किसी भी प्रकार की मोबाइल ऐप की जरूरत नहीं है। इसका उपयोग SMS के जरिए भी किया जा सकता है। यह एक प्रीपेड वाउचर है। एक प्रकार से आपके मोबाइल में मौजूद धनराशि है जिसका आप उपयोग कर सकते हैं। यदि आपके मोबाइल में e-RUPI प्रीपेड वाउचर है तो आप मोबाइल में इंटरनेट डाटा नहीं होने के बावजूद कैशलेस और कांटेक्ट लेंस पेमेंट कर सकते हैं।

e-RUPI सरकार का भरोसा है, पेमेंट सुरक्षित रहेगा

इस वन टाइम पेमेंट मैकेनिज्म के यूजर्स, सर्विस प्रोवाइडर पर कार्ड, डिजिटल पेमेंट ऐप या इंटरनेट बैंकिंग एक्सेस किए बिना वाउचर को रिडीम कर सकेंगे। इसे नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया यानी एनपीसीआई (NPCI) ने अपने यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस यानी यूपीआई (Unified Payments Interface) प्लेटफॉर्म पर वित्तीय सेवा विभाग, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय और राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के सहयोग से विकसित किया है।

कहां हो सकता है ई-रुपी डिजिटल वाउचर का इस्तेमाल

वेलफेयर सर्विस की लीक-प्रूफ डिलीवरी सुनिश्चित करने की दिशा में इससे एक क्रांतिकारी पहल होने की उम्मीद है। इसका इस्तेमाल आयुष्मान भारत, प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना, विभिन्न वेलफेयर स्कीम्स के तहत सर्विस देने के लिए भी किया जा सकता है। निजी क्षेत्र भी अपने कर्मचारी कल्याण और सीएसआर कार्यक्रमों में इन डिजिटल वाउचर का लाभ उठा सकता है।

यूपीआई क्या है 

यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस/यूपीआई एक रियल टाइम पेमेंट सिस्टम है, जो मोबाइल ऐप के माध्यम से बैंक अकाउंट में पैसे तुरंत ट्रांसफर कर सकता है। खास बात है कि ई-रुपी भी यूपीआई प्लेटफॉर्म पर बनाया गया है लेकिन इसे रिडीम करने के लिए मोबाइल ऐप की जरूरत नहीं होगी।

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindiठंड और डर दोनों के कारण रोंगटे खड़े हो जाते हैं, ऐसा क्यों
GK in Hindi- दूध को गर्म करने पर मलाई क्यों पड़ जाती है
GK in Hindi- बादल कैसे बनते हैं, क्या देवताओं के रूठने से बादल फटते हैं
GK in Hindi- वह कौन सी संख्या है जिसे रोमन में नहीं लिखा जा सकता
GK in Hindiरानियों के रेशमी वस्त्र किससे धुलते थे, वाशिंग पाउडर तो था नहीं
GK in Hindi- हिटलर की मूछें टूथब्रश जैसी क्यों थी, योद्धाओं जैसी क्यों नहीं, पढ़िए
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here