Loading...    
   


शिक्षकों की समस्याएं हल करने राज्य सभा सांसद ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखा - EMPLOYEE NEWS

मंडला
। आजाद अध्यापक शिक्षक संघ के जिला अध्यक्ष संतोष सोनी के नेतृत्व में शिक्षक संवर्ग की समस्याओं के निराकरण के लिए माननीय राज्य सभा सांसद संपतिया उइके को ज्ञापन सौंपा गया जिस पर समस्याओं को गंभीरता से लेते हुए तुरंत कार्यवाही कर माननीय सांसद महोदय ने माननीय मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान माननीय शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार एवं प्रमुख सचिव आदिम जाति कल्याण विभाग को पत्र लिखा।

पुरानी पेंशन योजना लागू की जाए: राज्य सभा सांसद संपतिया उइके 

माननीय मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में सांसद महोदय ने कहा कि मध्य प्रदेश मे कार्यरत अध्यापक शिक्षकों को नवीन पेंशन योजना के स्थान पर पुरानी पेंशन योजना लागू की जाए की अनुशंसा करते हुए कहा कि अध्यापक शिक्षकों के हितों को ध्यान में रखते हुए समुचित कार्यवाही करने का कष्ट करें।

संविदा शिक्षक वर्ग 3 में नियुक्त कर्मचारियों का अध्यापक शिक्षक संवर्ग में संविलियन नहीं हो पा रहा

शिक्षा मंत्री को लिखे पत्र में माननीय सांसद महोदय ने कहा की मध्यप्रदेश में अनुकंपा नियुक्ति से वर्ष 2007 एवं 2011 से संविदा शिक्षक वर्ग 3 में नियुक्त कर्मचारियों का अध्यापक शिक्षक संवर्ग में संविलियन नहीं हो पा रहा है। अनुकंपा नियुक्ति से संविदा शिक्षक बने शिक्षकों को डीएड करने की अनुमति शासन द्वारा प्रदान की गई जिसके तहत उन्होंने संविदा अवधि में रहते हुए D.El.Ed की उपाधि प्राप्त की किंतु नियुक्त संविदा शिक्षकों को राष्ट्रीय मुक्त विद्यालय शिक्षा संस्थान द्वारा डीएलएड की अंकसूची प्रदान नहीं की जा रही है। 

अनुकंपा नियुक्ति से आए इन संविदा शिक्षकों के लिए हायर सेकेंडरी परीक्षा में 50% अंक की अनिवार्यता की जा रही है जो कि अनुचित है क्योंकि यदि इन कर्मचारियों को संविदा में नियुक्ति दी गई है तो इन कर्मचारियों ने संविदा नियुक्ति की अहर्ता पूर्ण की हुई है तभी इन्हें संविदा शिक्षक बनाया गया है नियुक्त कर्मचारी के लिए केवल D.El.Ed करना अनिवार्य होता है जबकि यह अनुकंपा से नियुक्त कर्मचारी हैं इनके संविदा काल को समाप्त कर शीघ्र अध्यापक संवर्ग में संविलियन कराने का कष्ट करें एवं मूल अंक सूची जारी कराने हेतु संबंधित संस्थान को आदेशित करने का कष्ट करें

प्रतिनियुक्ति से आए शिक्षक संवर्ग को जनजाति कार्य विभाग में मर्ज किया जाए

प्रमुख सचिव को लिखे पत्र में महोदय ने कहा कि प्रतिनियुक्ति से आए शिक्षक संवर्ग को जनजाति कार्य विभाग में मर्ज किया जाए, जिले में स्थानांतरण से आए प्राथमिक माध्यमिक शिक्षकों को आईएफएमआईएस पोर्टल में जॉइनिंग कराई जाए, पद रिक्त नहीं होने के कारण यह शिक्षक पिछले 2 वर्षों से ऑफलाइन वेतन प्राप्त कर रहे हैं एवं इनके एंपलाई कोड भी जारी नहीं हो पा रहे हैं । विकासखंड मंडला बिछिया एवं नैनपुर में पोर्टल में पद उपलब्ध कराए जाएं, उच्च माध्यमिक शिक्षकों की क्रमोन्नति के निर्देश शीघ्र जारी किए जाएं। संविदा शिक्षकों को अध्यापक संवर्ग में संविलियन करवाया जाए , मंडला जिले में कार्यरत वर्ष 2006 2007 एवं 2008 से नियुक्त शिक्षकों को क्रमोन्नत वेतनमान का लाभ प्रदान कराया जाए एवं जबलपुर संभाग की लंबित स्थानांतरण सूची शीघ्र जारी कराया जाए।

माननीय राज्यसभा सांसद ने आजाद अध्यापक शिक्षक संघ के ज्ञापन के  तहत  यह पत्र जारी किया है समस्याओं का निराकरण नहीं होने पर माननीय राज्यसभा सांसद ने आश्वस्त किया है कि हम आपके साथ भोपाल जाकर भी समस्याओं का निराकरण करवाएंगे।

6 मार्च को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार 



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here