Loading...    
   


सरकार पेट्रोल पर टैक्स कम करने को तैयार नहीं, वित्त मंत्री का बयान आया - National india news

नई दिल्ली।
बहुत पुरानी बात हो गई कि सरकार अपनी कमाई के लिए उद्योग धंधे संचालित करती थी, मेलों का आयोजन करती थी परंतु अब जनता पर टैक्स लगाकर सरकारी खजाना भरा जाता है। भारत में पेट्रोल की कीमत ₹100 के पार हो गई है लेकिन सरकार पेट्रोल पर टैक्स कम करने को तैयार नहीं है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के बयान से यह बात स्पष्ट होती है। 

तेल का उत्पादन कम हो रहा है, पेट्रोल के दाम और बढ़ सकते हैं: वित्त मंत्री

पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का बड़ा बयान सामने आ रहा है। उन्होंने कहा, "यह अफसोसनाक मुद्दा है और कीमतें में कमी के अलावा कोई भी जवाब लोगों को संतुष्ट नहीं कर सकता। केंद्र और राज्य दोनों को उपभोक्ताओं के लिए उचित स्तर पर खुदरा ईंधन मूल्य में कमी लाने के लिए बात करनी चाहिए।" चेन्नई में वित्त मंत्री ने कहा कि OPEC देशों ने उत्पादन का जो अनुमान लगाया था, वह भी नीचे आने की संभावना है जो फिर से चिंता बढ़ा रहा है। तेल के दाम पर सरकार का नियंत्रण नहीं है। इसे तकनीकी तौर पर मुक्त कर दिया गया है तेल कंपनियां कच्चा तेल आयात करती हैं, रिफाइन करती हैं और बेचती हैं।

पेट्रोल और डीजल के दाम हम नहीं तय करते: केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार

बता दें आज केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने भी कहा है कि पेट्रोल और डीज़ल के दाम वैश्विक बाज़ार तय करता है, हमने महंगाई कम करने के लिए समय-समय पर दाम घटाया है। भारत सरकार इनके दाम घटाने के लिए कृतसं​कल्पित रहती है। वहीं विपक्ष पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम को लेकर केंद्र सरकार पर हमलावर है। 

भारत के इतिहास में ऐसा किसी भी सरकार ने नहीं किया: आम आदमी पार्टी

पेट्रोल-डीज़ल की कीमतों में बढ़ोतरी पर AAP नेता राघव चड्ढा कहते हैं, "भारतीय जनता पार्टी जिस प्रकार से इस देश को लूट रही है, जिस प्रकार से गरीब लोगों की कमर तोड़ रही है और लोगों की जेब पर डाका डाल रही है, मुझे नहीं लगता है इस देश के इतिहास में इस तरह से किसी भी सरकार ने किया होगा।"

गरीबों ने देश के लिए इतना टैक्स दे दिया कि अब खाने को पैसा नहीं बचा: अखिलेश यादव

ईंधन पर सबसे ज्यादा वैट वसूलने वाले राज्य राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों को जिम्मेदार ठहराया है। वहीं उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा, " जिस समय पेट्रोल-डीज़ल महंगा हो जाता है, उसी समय महंगाई बढ़ जाती है। महंगाई बढ़ाकर इन्होंने पूरे मध्यम वर्ग,गरीब, किसान,नौजवान सबके ऊपर भार डाला है। BJP ने इतनी महंगाई कर दी कि गरीब ये सोच रहा है कि हम बचाएं क्या..खाएं क्या? और वो तर्क दे रहे हैं कि इससे देश बनेगा।"

20 फरवरी को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार 



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here