Loading...    
   


भोपाल में PC शर्मा, कैलाश मिश्रा सहित 3000 कांग्रेस नेताओं के खिलाफ मामला दर्ज - BHOPAL NEWS

भोपाल।
भोपाल में किसानों के समर्थन में शनिवार दोपहर धरना, प्रदर्शन और रैली निकालने के मामले में अब पूर्व मंत्री पीसी शर्मा और कैलाश मिश्रा समेत करीब 3 हजार लोगों पर दो अलग-अलग FIR टीटी नगर थाने में दर्ज की गई है। सभी पर बलवा और शासकीय कार्य में बाधा समेत छह धाराएं लगाई गई है। पहली FIR महिला सिपाही की तरफ से है, जबकि दूसरी FIR में पुरुष सिपाही फरियादी बना हैं। 

पुलिस के अनुसार रैली की अनुमति लिए बिना कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जवाहर चौक से रोशनपुरा तक जबरन रैली निकाली और प्रदर्शन कर पुलिस से झड़प भी की। पुलिस के कई बार समझाने के बाद भी कांग्रेस कार्यकर्ता रैली और प्रदर्शन करने पर अड़े रहे। प्रदर्शनकारियों के उग्र होने पर पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े और पानी की बौछारें भी की। इसके बाद भी जब प्रदर्शनकारी रास्ते से नहीं हटे, तो पुलिस ने बल प्रयोग कर सभी को खदेड़ दिया। पुलिस ने मौके से पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, पीसी शर्मा और कैलाश मिश्रा समेत 106 लोगों को गिरफ्तार कर केंद्रीय जेल गांधी नगर भेज दिया था। हालांकि देर शाम सभी को जमानत पर रिहा कर दिया गया। उनके खिलाफ 151 के तहत प्रतिबंधात्मक कार्यवाही की गई।

इस मामले में अब देर रात दो अलग-अलग FIR की गईं। पहले मामले में पुलिस लाइन की महिला सिपाही छाया सोलंगी की शिकायत पर पूर्व मंत्री पीसी शर्मा, कैलाश मिश्रा, शेर सिंह और दिनेश सिंह समेत करीब डेढ़ हजार और दूसरे मामले में सिपाही अनंत कुमार सोमवंशी की शिकायत पर शर्मा, मिश्रा, शेर सिंह और दिनेश सिंह समेत करीब डेढ़ हजार पर एक राय होकर बलवा करने, शासन के आदेशों का उल्लंघन करना, शासकीय कार्य में बाधा डालने और पुलिस से झूमा झपटी करने समेत अन्य धाराओं में आरोपी बनाया है। फिलहाल किसी की गिरफ्तारी नहीं की गई है।

मध्य प्रदेश कांग्रेस पार्टी ने भोपाल समेत प्रदेश भर में शनिवार को किसानों के समर्थन में धरना, प्रदर्शन और रैली का आयोजन किया था। भोपाल में यह रैली जवाहर चौक से शुरू होकर राजभवन तक जानी थी। यहां राजभवन का घेराव किया जाना था। पुलिस ने इसे देखते हुए रोशनपुरा से राजभवन की तरफ जाने वाले सभी रास्ते बंद कर दिए थे।

इस प्रदर्शन में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ समेत प्रदेश के अधिकांश वरिष्ठ कांग्रेस नेता शामिल हुए। कमलनाथ ने जवाहर चौक पर कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। उसके बाद वह रवाना हो गए। उनके जाने के बाद प्रदर्शनकारी राजभवन का घेराव करने निकल पड़े, जिसे पुलिस ने बीच में ही रोक दिया। इसके बाद ही पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प हो गई थी।

24 जनवरी को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here