Loading...    
   


JABALPUR: तेज रफ्तार ट्रक ने पूरा परिवार कुचला, 3 की मौत - MP NEWS

जबलपुर।
 मध्य प्रदेश के जबलपुर जिले में बरेला-निवास रोड पर मंगलवार को तेज रफ्तार ट्रक ने बाइक सवार चार लोगाें को कुचल दिया। हादसे में मां-बेटी की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं, भाई ने अस्पताल ले जाते समय रास्ते में दम तोड़ दिया।  

महिला के 10 वर्षीय बेटे को गंभीर हालत में मेडिकल में भर्ती कराया गया है। आक्रोशित परिजन व ग्रामीणों ने घटना को लेकर ट्रक में तोड़फोड़ करते हुए जाम लगा दिया। ग्रामीणों ने दो बार ट्रक में आग लगाने की कोशिश भी की। एक्सीडेंट की खबर मिलते ही डीएसपी जबलपुर मुख्यालय से मौके पर पहुंच गईं, लेकिन आठ किमी दूर बरेला थाने से टीआई घटनास्थल पर नहीं पहुंच पाए।

जानकारी के अनुसार धनपुरी गांव निवासी सुरेंद्र यादव (25) की बहन सुशीला यादव (32) मकर संक्रांति पर मायके आई थी। साथ में उसकी बड़ी बेटी अंजना (13) व बेटा अंशु यादव (08) भी आए थे। मंगलवार दोपहर में सुरेंद्र बहन और भांजे-भांजी को बाइक एमपी 20 एनटी 1190 से छोड़ने उनके घर पौड़ी जा रहा था। धनपुरी से दो किमी आगे निवास रोड पर पहाड़ीखेड़ा के पास पहुंचे थे। तभी जबलपुर से निवास की ओर जा रहे ट्रक सीआई जे-9197 नंबर के ट्रक ने पीछे से बाइक को टक्कर मार दी।

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक टक्कर के चलते बाइक सवार चारों ट्रक के नीचे आ गए। सुशीला और उसकी बेटी अंजना का सिर फट गया। इससे दोनों मां-बेटी की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई। वहीं सुरेंद्र यादव और उसका भांजा अंशु यादव गंभीर रूप से घायल हो गए। हादसे के बाद काफी देर बाद एम्बुलेंस पहुंची। इलाज के लिए ले जाते समय रास्ते में सुरेंद्र यादव ने भी दम तोड़ दिया। वहीं अंशु यादव की हालत नाजुक बनी हुई है। उसे मेडिकल में भर्ती कराया गया है।

हादसे की खबर धनपुरी में सुरेंद्र यादव के घर पहुंची तो कोहराम मच गया। परिवार सहित गांव के लोग मौके पर पहुंचे। आसपास के ग्रामीण भी वहां जमा हो गए थे। मां-बेटी की लाश देख लोग आक्रोशित हो गए। ग्रामीणों ने गुस्से में ट्रक में तोड़फोड़ करते हुए आग लगाने की कोशिश की। भीड़ में शामिल कुछ ग्रामीणों ने ही उन्हें रोका। मौके पर पुलिस कंट्रोल रूम सहित गोराबाजार व केंट थाने का बल रवाना किया गया। डीएसपी अपूर्वा किलेदार ने मौके पर पहुंच कर ग्रामीणों को किसी तरह शांत कराया और शवों को पीएम के लिए भिजवाया।

हादसे के प्रत्क्षदर्शी ग्रामीणों के मुताबिक ट्रक खाली था और उसे 60 वर्षीय वृद्ध चला रहा था। हादसे के बाद वह ट्रक छोड़कर भागने में सफल रहा। पुलिस ने ट्रक को कब्जे में ले लिया है। लगभग तीन घंटे तक मौके पर बवाल चला। इस दौरान दोनों तरफ वाहनों की कतार लग गई। ग्रामीणों का आरोप था कि सूचना के तत्काल बाद एम्बुलेंस या पुलिस पहुंची होती, तो अंजना और सुरेंद्र को बचाया जा सकता था। अधिक खून बह जाने से दोनों की मौत हो गई। बरेला पुलिस ने ट्रक चालक के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर जांच में लिया है।

19 जनवरी को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here