Loading...    
   


सब इंस्पेक्टर का किडनैप हुआ बेटा मिला, ONLINE GAME के कारण कहानी बनाई - MORENA MP NEWS

ग्वालियर
। अनोद तोमर सब इंस्पेक्टर BSF का किडनैप हुआ बेटा प्रिंस तोमर मिल गया है। उसका अपहरण उसने खुद किया था। पुलिस ने मुरार स्थित एक होटल से उसे हिरासत में ले लिया है। पुलिस स्टेटमेंट में प्रिंस तोमर ने बताया कि ऑनलाइन गेम के दौरान वह 5.70 लाख रुपए हार गया था। इसी रकम के लिए उसने अपने अपहरण की कहानी रची।

प्रिंस तोमर: मुरैना से धौलपुर होते हुए ग्वालियर आया था

सिरमौर का पुरा निवासी युवक प्रिंस तोमर 18 साल के रविवार को गायब होने की सूचना मिलने के साथ ही पुलिस अधीक्षक अनुराग सुजानिया ने पुलिस की पांच टीम गठित कर आस-पास के जिलों के स्टेशन क्षेत्र के होटलों में तलाशी शुरू करा दी थी। धौलपुर पहुंची टीम ने एक होटल में प्रिंस के रुकने की पुष्टि वहां लगे सीसीटीवी फुटेज के आधार पर की। पुलिस पार्टी ने रेलवे स्टेशन से यह पता लगा लिया कि प्रिंस आगरा-ग्वालियर पैसेंजर ट्रेन से ग्वालियर के लिए रवाना हुआ है। इस तथ्य पर काम करते हुए दूसरी पुलिस पार्टी ने ग्वालियर पहुंचकर मुरार के एक लॉज से प्रिंस को रविवार की रात बरामद कर लिया।

GREEDY BABY ONLINE GAME में 5.70 लाख रुपए हार गया 

प्रिंस तोमर ने पूछताछ के दौरान पुलिस को बताया कि वह MOBILE PHONE पर YOYO APP में GREEDY BABY (लालची गुड़िया) ONLINE MOBILE GAME में सिक्के खरीदते-खरीदते 5.70 लाख रुपए हार गया। इस पैसे का कर्ज बढ़ने पर उसने खुद के अपहरण का नाटक रचा और गांव से 700 मीटर दूर मरी माता मंदिर पर अपनी बाइक छोड़कर सीधे धौलपुर जा पहुंचा। 

फिरौती की बची रकम से APP वाली गर्लफ्रेंड से मिलने कोलकाता जाना था

धौलपुर से प्रिंस ने अपने पिता अनोद सिंह तोमर के मोबाइल पर रविवार की सुबह कॉल लगाकर 10 लाख रुपए की फिरौती कानपुर के विनोद उपाध्याय के नाम से मांगी। प्रिंस ने बताया कि उसका प्लान था कि पिता से 10 लाख रुपए ऐंठकर उससे 5.70 लाख रुपए का कर्जा पटाऊं और शेष रकम लेकर अपनी एप दोस्त से मिलने कोलकाता चला जाऊं।

6 साल पहले लापता हुआ दूसरा बेटा भी मिल गया

प्रिंस तोमर का बड़ा भाई रानू तोमर 2014 से गांव से लापता था। प्रिंस के लापता होने के घटनाक्रम के दौरान रानू का वीडियाे कॉल भी पुणे से उसके पिता के पास आ गया। इससे पुलिस को राहत मिली है। बताया जाता है कि रानू व प्रिंस के पिता अनोद तोमर बीएसएफ में सब इंसपेक्टर होकर किशनगंज बिहार में पदस्थ हैं। वह स्वभाव से सख्त होने के कारण लड़कों को डांट देते हैं इसलिए बच्चों ने उनसे दूरियां बना लीं।

24 दिसम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार




भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here