Loading...    
   


भोपाल की बहादुर बेटी ने हाथ की नस काट ली, ट्विटर पर सुसाइड नोट और वीडियो, 6 महीने से सीएम हाउस के चक्कर लगा रही थी - MP NEWS

भोपाल।
मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के गोविंदपुरा क्षेत्र में रहने वाली लड़की किरण राजपूत ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल करते हुए हाथ की नस काट ली। उसने अपना सुसाइड नोट भी सोशल मीडिया पर अपलोड किया है। नस काटने से पहले उसने बताया कि वह पिछले 6 महीने से सीएम शिवराज सिंह चौहान से मिलना चाहती है परंतु पुलिस वालों से मिलने नहीं दे रहे। पुलिस ने उसका केस बिगाड़ दिया है। 

ट्विटर हैंडल के हैडर पर सीएम शिवराज सिंह चौहान का ट्वीट

किरण राजपूत एमटेक कर रही थी। किरण राजपूत के ट्विटर हैंडल के हैडर पर सीएम शिवराज सिंह चौहान का वह ट्वीट दिखाई दे रहा है, जिसमें उन्होंने लिखा है कि "बेटा आपके पिता की निर्मम हत्या करने वाले किसी भी अपराधी को बख्शा नहीं जाएगा। मैंने पुलिस को सख्त निर्देश दिए हैं कि 24 घंटे में सारे अपराधियों को पकड़ा जाए। किसी को नहीं छोड़ा जाएगा। बेटा हम आपके साथ हैं। वीडियो वायरल होने के बाद डीआईजी इरशाद वाली ने जानकारी दी कि हत्या के सभी 12 आरोपी जेल में है और पुलिस चालानी कार्रवाई करने वाली है।

आई एम सॉरी पापा, मैं आपको न्याय नहीं दिला पाई

किरण राजपूत ने अपने सुसाइड नोट में पूरी कहानी लिखी है। डार्क अक्षरों में लिखा है कि आई लव यू मां, मैं आपसे बहुत प्यार करती हूं। बहादुर बेटी नहीं बन सकी। मुझे माफ कर देना मैं आपको न्याय नहीं दिला सकी, आई एम सॉरी पापा। उसने अपने सुसाइड नोट में उन सभी पुलिस कर्मचारियों की भी नाम लिखें जिन्हें वह अपनी मौत का जिम्मेदार मानती है। किरण राजपूत में अपना वीडियो अपलोड करते हुए सीएम शिवराज सिंह चौहान को भी टैग किया है। 

6 महीने से सीएम हाउस के चक्कर लगा रही थी

इससे पहले 30 अक्टूबर को भी किरण राजपूत ने एक वीडियो अपलोड किया था। उसने बताया था कि उसके पिता की हत्या कर दी गई है। वह न्याय मांगने के लिए दर-दर भटक रही है। उसने बताया था कि 3 दिन से लगातार ओसियां बहुत आ रही है परंतु पुलिस वाले उसे भगा देते हैं। इस वीडियो में किरण राजपूत के पीछे उसकी मां और उसका छोटा भाई भी दिखाई दे रहा है। उसने अपील की थी कि उसे एक बार सीएम शिवराज सिंह चौहान से मिलने दे। 

गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा से भी मिली थी

दिनांक 5 सितंबर को किरण राजपूत गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा से मिली थी। उसके बाद पत्रकारों को किरण राजपूत ने बताया कि पुलिस प्रशासन हत्यारों के चाचा बिल्ला चौहान की जेब में है। बिल्ला चौहान मध्य प्रदेश का गुंडा है जो हमें न्याय नहीं मिलने दे रहा है, किरण का यह भी कहना है कि बिल्ला चौहान ने अपने गुंडों से गरीबों को पिटवा कर उन्हें उनके घर से ही बेदखल कर दिया है। इसके साथ ही किरण ने यह भी आरोप लगाया है कि बिल्ला अवैध कारोबार करता है उसके पास अवैध धन है।

किरण ने वीडियो के माध्यम से बताया कि उनके पिता ने हत्या से पहले एक एप्लीकेशन लिखा था, जिसे मैंने गोविंदपुरा थाने में टीआई अशोक परिहार को जमा किया था पर इस एप्लीकेशन को साक्ष्यों में सम्मिलित नहीं किया गया। पुलिस लगातार साक्ष्यों को मिटाने में जुटी हुई है। किरण राजपूत के ट्विटर हैंडल पर जाने के लिए यहां क्लिक करें

01 नवम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here