Loading...    
   


कोविड 19: होम आइसोलेशन या होम क्वारंटाइन में क्या करें, क्या ना करें / HOME QUARANTINE WHAT TO DO OR NOT DO

home quarantine rules / होम क्वारंटाइन का क्या मतलब है? / होम क्वारंटाइन में क्या करना चाहिए?

अनुराग उईके। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के साथ ही उपचार को लेकर सरकार द्वारा आमजनों की जागरूकता के लिए समय समय पर गाइडलाइंस जारी की जा रहीं है, अब भी लोगों में तरह तरह की जिज्ञासा रहती है। होम आइसोलेशन और कोरेन्टीन क्या है, किसे जरूरत है, यह व्यवस्था कैसे सुनिश्चित होगी और किस तरह की सावधानियां हो, यह अब भी लोगों को बहुत ज्यादा नहीं पता है।

होम आइसोलेशन में किसे रहना है / how to self quarantine at home

कोरोनावायरस संक्रमण से प्रभावित क्षेत्रों में आवागमन के बाद आने वाले ऐसे व्यक्ति जो बिना लक्षण वाले लोगों अथवा ऐसे व्यक्तियों के संपर्क में आए हो जो बीमार हो उन लोगों को होम आइसोलेशन में रहना चाहिए।

होम आइसोलेशन में क्या करना है / होम क्वारंटाइन कैसे करे? / how to quarantine at home with covid

ऐसे व्यक्ति एक ऐसे अलग हवादार कमरे में परिवार के अन्य सदस्यों से दूर रहें जिसमें अलग बिस्तर और शौचालय की व्यवस्था हो और उस कमरे का उपयोग सिर्फ होम आइसोलेशन में रह रहा व्यक्ति ही करें। अपने उपयोग का सामान जैसे कपड़े, बर्तन, तौलिया आदि अलग रखें और खुद ही उन्हें रोज अच्छी तरह से भी विसंक्रमित (सैनिटाइज) और साफ करें।

घर के भीतर किसी से भी मिलते समय मास्क पहने, बार-बार साबुन तथा पानी से हाथ धोएं, गर्म पानी पिएं, पौस्टिक आहार और तरल पदार्थ लेते रहें, सक्रिय बने रहें, योग, व्यायाम और प्राणायाम करें। पल्स ऑक्सीमीटर से spo2 लगातार नापे एवं अपना तापमान बार-बार देखें यदि बुखार हो तो स्वास्थ्य विभाग को सूचित करें। फोन में सार्थक एप, आरोग्य सेतु एप डाउनलोड कर उसमें आवश्यक जानकारी रोज भरें। चिकित्सकीय परामर्श के अनुरूप हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वीन लें, विटामिन सी युक्त पदार्थ का नियमित सेवन करें।

होम आइसोलेशन में क्या नहीं करना है / HOW TO QUARANTINE AT HOME

होम आइसोलेशन वाले सदस्य घर के अन्य कमरों में न जाएं, अपने उपयोग के अलावा अन्य चीजों को न छुएं। इधर उधर थूके नहीं, घर में यदि गर्भवती महिलाओं, बच्चों, बुजुर्गों या पहले से गंभीर बीमार व्यक्ति है तो उनसे बिल्कुल दूर रहें, या फिर बेहतर होगा कि आप होम क्वॉरेंटाइन के बजाय संस्थागत क्वॉरेंटाइन में चले जाएं।

कोरोना वायरस खतरे के लक्षण क्या है-

लगातार तेज बुखार, सीने अथवा गले में लगातार दर्द या भारीपन, मानसिक भ्रम या सचेत होने में कठिनाई, होंठ तथा चेहरे का नीला पड़ना, जैसे लक्षण होने पर तुरंत स्वास्थ्य अधिकारियों को सूचित करें ।

देखभाल करने वाले लोगों को क्या-क्या करना है / how to quarantine at home from other family members

जब भी हम क्वारंटाइन व्यक्ति के संपर्क में आएं तो मास्क पहन कर रखें , घर के अन्य लोगों से सुरक्षित दूरी बनाकर मिले, अपने स्वयं के स्वास्थ्य का ध्यान रखें और सर्दी, जुखाम बुखार जैसे लक्षण होने पर तुरंत जांच कराएं । अन्य लोगों से ना मिले जुले ना ही किसी बाहरी लोगों को घर में आने दें । बाजार, पार्क, कार्यालय जैसे अन्य सार्वजनिक स्थानों पर न जाएं।

होम क्वॉरेंटाइन में कितने दिन रहना है / how to spend quarantine at home

कोविड-19 पुष्ट केस के संपर्क में आने की तारीख से 14 दिनों तक लक्षण रहित होने पर अथवा संदिग्ध इंडेक्स केस की जांच रिपोर्ट नेगेटिव आने तक अथवा चिकित्सीय परामर्श लेने के बाद ही कमरे से निकलना चाहिए।
(लेखक श्री अनुराग उईके भोपाल, मध्यप्रदेश में सहायक संचालक, जनसम्पर्क हैं।) 
लोगों की जानकारियां बढ़ाने वाले लेख कृपया इस पते पर भेजें editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here