Loading...    
   


मध्यप्रदेश में घटिया PPE किट के खिलाफ जूनियर डॉक्टर भी लामबंद / MP NEWS

भोपाल। मध्यप्रदेश में डॉक्टर एवं पैरामेडिकल स्टाफ को दी गई PPE किट की क्वालिटी बेहद खराब है। यह किट प्लास्टिक के कवर जैसी है। इस किट को पहनने से स्वास्थ्य कर्मचारी बीमार हो जाते हैं। ज्यादा देर पहनने पर बेहोश हो जाते हैं। मध्यप्रदेश में ऐसी कई घटनाएं हो चुकी हैं।

भोपाल गांधी मेडिकल कॉलेज (जीएमसी) के जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन ने भी स्वास्थ्यकर्मियों की दी जा रही PPE किट की क्वालिटी पर सवाल उठाए हैं। स्टेट जूडा के प्रेसीडेंट डॉ. सचेत सक्सेना ने बताया इस तरह की किट बदलने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखा है। उन्होंने कहा कि पॉलीथिन की तरह किट मिल रही है, जिससे स्वास्थ्यकर्मी किट पहनकर बीमार हो रहे हैं। 

उन्होंने यह भी मांग की है कि स्वास्थ्यकर्मियों से 10 दिन तक कोरोना वार्ड में ड्यूटी कराने के बाद 14 दिन तक होटल में क्वारंटाइन रखने की सुविधा सरकार दे। बता दें कि हफ्ते भर पहले यह व्यवस्था बंद कर दी गई है।

29 मई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

बादल नीचे क्यों नहीं गिरते जबकि वह पृथ्वी के गुरुत्वाकर्षण में होते हैं
हीटर से आग पैदा होती है तो उसकी डोरी क्यों नहीं जलती
चुंबकीय क्षेत्र कमजोर हो गया, क्या पृथ्वी पर भी लोग चांद की तरह उड़ने लगेंगे, पढ़िए
दिल्ली अप्रूवल के लिए भेजी गई शिवराज सिंह मंत्री मंडल की प्रस्तावित लिस्ट लीक
भारतीय संविधान से आर्टिकल-30 खत्म करवाना चाहती है भाजपा, बहस आमंत्रित
पापा अपनी पत्नी को कहना रोने का नाटक ना करें, लिखकर 12वीं की छात्रा ने सुसाइड कर लिया
कर्मचारी से घटिया मशीन चलवाना अपराध है, कंपनी मालिक जेल जाएगा, पढ़िए
पैडमेन की एक्ट्रेस प्रेक्षा मेहता ने इंदौर में सुसाइड किया
भोपाल के शराब कारोबारी ने 4 फैमिली मेंबर्स के लिए 180 सीट वाला हवाई जहाज किराए पर लिया
पनीर और चीज़ में सबसे अच्छा क्या है, दोनों में क्या अंतर है
बैंक वाले चेक के पीछे सिग्नेचर क्यों करवाते हैं, जबकि वहां सिग्नेचर मार्क नहीं होता
मध्यप्रदेश में कमलनाथ ने कांग्रेस को बर्बाद कर दिया: बागी हुए वरिष्ठ नेता ने कहा
DATING APP पर मिली गर्लफ्रेंड वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करने लगी
रीवा में आंधी-तूफान, होर्डिंग गिरा, बैंक मैनेजर की मौत
मप्र के सरकारी और प्राइवेट कॉलेजों की परीक्षा की तारीख घोषित


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here