Loading...    
   


कमलनाथ को जवाब देना चाहिए कि वह दिग्विजय सिंह को क्यों झेलते रहे: प्रद्युम्न सिंह तोमर / GWALIOR NEWS

ग्वालियर। पूर्व केबिनेट मंत्री और कांग्रेस छोडक़र भाजपा में आए प्रद्युम्मन सिंह तोमर ने कहा है कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को इस बात का जवाब देना चाहिए कि वह कांग्रेस सरकार में दिग्विजय सिंह को क्यों झेलते रहे जिसके कारण कांग्रेस सरकार गिर गई। सिंधिया समर्थकों में गिने जाने वाले प्रद्युम्मन सिंह तोमर ने कहा कि भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा ने जो बयान दिया है जिसमें उन्होंने कमलनाथ से पूछा है कि ऐसी क्या मजबूरी थी जो कांग्रेस सरकार में कमलनाथ पहले दिन से दिग्विजय सिंह को बर्दाश्त करते रहे। अंतत: सरकार गिराने का खामियाजा भुगतना पड़ा। प्रद्युम्मन सिंह तोमर ने कहा कि भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ने सही सवाल कमलनाथ से पूछा है और इसका जवाब कमलनाथ को देना चाहिए।

कमलनाथ सरकार में केबिनेट मंत्री रहे प्रद्युम्मन सिंह तोमर ने कहा कि पूर्व की कमलनाथ सरकार में अवैध उत्खननकर्ताओं को संरक्षण था। कमलनाथ सरकार को कुछ चंद लोग ही चला रहे थे। जब हम इस सरकार के कामकाज पर उंगली उठाते थे तो हमारी आवाज दबा दी जाती थी। जनता से जुड़े विकास कार्यों की हम बात करते तो बजट न होने की बात कहकर इन मामलों को दबा दिया जाता था। जबकि छिंदवाड़ा में विकास कार्यों को लेकर सीएम कमलनाथ प्रदेश के अन्य क्षेत्रों से भेदभाव करते।

प्रद्युम्मन सिंह तोमर ने कहा कि छिंदवाड़ा में विकास कार्यों व योजनाओं के लिए बजट की व्यवस्था हो जाती थी लेकिन जब हमारे अंचल के लिए कोई योजना मंजूर कराने जाते थे बजट न होने की बात कहकर पल्ला झाड़ लिया जाता था। उन्होंने कहा कि हम छिंदवाड़ा में विकास के विरोधी नहीं लेकिन प्रदेश के दूसरे क्षेत्र व हमारे अंचल से कमलनाथ ने क्यों भेदभाव किया। इसका जबाव देना चाहिए। जब पानी ऊपर से गुजर गया तो हमने हमारे नेता ज्योतिरादित्य को इसके लिए अधिकृत किया और हमारे नेता के एक आदेश पर हमने जनता के ऊपर हो रहे अन्याय के खिलाफ आवाज उठाई।

सिंधिया जी की ईमानदारी पर हमें पूरा भरोसा

पूर्व केबिनेट मंत्री प्रद्युम्मन सिंह तोमर ने कहा कि भारत की राजनीति में शुचिता व ईमानदारी की परंपरा को कायम रखने वाले सिंधिया परिवार के मुखिया ज्योतिरादित्य पर हमें पूरा भरोसा है। इसलिए सिंधिया जी को नीचा दिखाने की जो कोशिश कमलनाथ ने की थी उसके लिए उन्हे माफी मांगना चाहिए साथ ही दिग्विजय सिंह को लेकर भी जवाब देना चाहिए। कार्यक्रम-जैन मिलन ग्वालियर का 40 दिवासिय भोजन सामपान एवं अधिकारियो का सम्मान समारोह किया गया।

05 मई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

ज्योतिर्लिंग और शिवलिंग में क्या कोई अंतर है या सिर्फ नाम अलग-अलग हैं 
मध्य प्रदेश के पंचायत विभाग ने 27 जिलों में संविदा कर्मचारियों की सेवाएं समाप्त कर दी
कोरोना दहशत: पिता ने क्वॉरेंटाइन से लौटे बेटे की हत्या कर दी, ताकि गांव में किसी और को कोरोना ना हो जाए 
यदि 7 साल से कम का बच्चा चोरी करे तो क्या उसके खिलाफ FIR दर्ज होगी, पढ़िए 
मात्र 15 मिनट में फैसला, मध्यप्रदेश के किन इलाकों में शराब बिकेगी किन में नहीं, यहां पढ़िए
मध्य प्रदेश: निवाड़ी विलोपित, सतना शामिल, 34 जिलों में इंफेक्शन, 2942 मरीज 
यदि कोई विक्षिप्त व्यक्ति अपराध करे तो क्या उसे सजा नहीं होगी, यहां पढ़िए 
शिवपुरी में SDM का एक्सीडेंट, आगे चल रहे वाहन में पीछे से जा घुसी स्कॉर्पियो 
कोरोना के कारण शशांक मिश्रा IAS को उज्जैन कलेक्टर के पद से हटाया 
योगी आदित्यनाथ के पिता की अस्थियां लेकर गए विधायक उत्तराखंड में गिरफ्तार 
जबलपुर में नाम के पहले अक्षर के अनुसार ऑफिस जायेंगे कर्मचारी 
हवा फेंकने वाला पंखा गंदा क्यों हो जाता है, जबकि हवा से धूल साफ होती है 
CM योगी आदित्यनाथ के पिता की फर्जी अस्थियां विसर्जित करने गए BJP विधायक, UP लौटते ही गिरफ्तार
एमपी बोर्ड के शेष पेपर की तैयारी कर चुके स्टूडेंट्स के लिए गुड न्यूज़ 
MPPSC: हाईकोर्ट ने दिव्यांगों को कुल कैडर इसटैन्थ का 6% आरक्षण देने के आदेश दिए


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here